बुधवार, 01 अप्रैल, 2015 | 10:05 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
बंगलुरु के एक स्कूल में फायरिंग, स्कूल कर्मचारी ने दो छात्राओं को गोली मारी, एक की मौत, एक की हालत गंभीर।जोधपुर के मुख्य आयकर आयुक्त पीके शर्मा और पूर्व आईटी अधिकारी शैलेंद्र भंडारी को सीबीआई ने कथित तौर पर 15 लाख रुपये की रिश्वत लेने के लिए गिरफ्तार किया।
'टर्निंग विकेट बनाने का खामियाजा भुगता भारत ने'
लंदन, एजेंसी First Published:18-12-12 12:57 PMLast Updated:18-12-12 01:17 PM
Image Loading

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन का मानना है कि भारत को हालिया टेस्ट सीरीज़ में टर्निंग विकेट बनाने का खामियाजा भुगतना पड़ा क्योंकि इंग्लैंड के स्पिनरों ने बेहतर प्रदर्शन किया।
     
भारत को इंग्लैंड ने चार मैचों की टेस्ट सीरीज़ में 2-1 से हराया। हुसैन ने डेली मेल में अपने कॉलम में लिखा, भारत वह टीम नहीं रही जो कभी हुआ करती थी। दोनों टीमों में से इंग्लैंड बेहतर थी। इंग्लैंड के पास भारतीय हालात का फायदा उठाने के लिये बेहतर स्पिनर थे।
     
उन्होंने कहा कि इंग्लैंड की टीम मानसिक और शारीरिक रूप से अधिक फिट और जीत की भूखी थी। भारत विकेट लेने में नाकाम रहा। पहला टेस्ट जीतने के बाद भारत को लगा कि टर्निंग विकेट बनाकर वे इंग्लैंड को दबाव में ला देंगे। उनका यही अति साहसी रवैया उन्हें ले डूबा।
     
हुसैन ने कहा कि पहला टेस्ट हारने के बाद इंग्लैंड ने जबर्दस्त वापसी की। उन्होंने कहा कि इस सीरीज़ में दूसरी पारियां अहम साबित हुई और इसी से मैच का रूख तय हुआ।

हुसैन ने कहा कि जब एलेस्टेयर कुक ने अहमदाबाद में हारे हुए टेस्ट की दूसरी पारी में शतक जमाया तभी से हालात बदलने लगे। यह वही पल था जब कप्तान ने अपनी टीम से कहा होगा कि डरने की कोई जरूरत नहीं है। गेंद दोनों तरफ से टर्न नहीं ले रही है और यदि हम डटकर खेले तो बड़ा स्कोर बना सकते हैं।
     
उन्होंने कहा कि उसके बाद से सब कुछ इंग्लैंड के अनुकूल हुआ। उन्होंने स्पिनर मोंटी पनेसर और बल्लेबाज केविन पीटरसन की तारीफ की। उन्होंने यह भी कहा कि टिम ब्रेसनन बेहतरीन क्रिकेटर है लेकिन कुक और एंडी फ्लॉवर को जैसे ही यह समझ में आया कि पहले टेस्ट में मोंटी पनेसर को नहीं चुनकर उन्होंने गलती की, ब्रेसनन बाहर हो गया।

 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें