बुधवार, 27 मई, 2015 | 07:10 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    दिल्ली विधानसभा: विशेष सत्र में हंगामा, बीजेपी विधायक को बाहर निकाला  यूपी: गर्मी का कहर जारी, राहत के आसार नहीं इस रेस्टोरेंट में आने वालों को बनना पड़ता है कैदी प्रतापगढ़ में रोडवेज के कैशियर की हत्या कर साढ़े सात लाख की लूट  सलमान को दुबई जाने के लिए कोर्ट से मिली अनुमति वसीम रिजवी शिया वक्फ बोर्ड के फिर चेयरमैन साहित्यिक चोरी के आरोप में 'पीके' के निर्माताओं को नोटिस 9 अधिकारियों के तबादले के बाद एलजी से मिले केजरीवाल  कांग्रेस के दस साल पर भारी भाजपा का एक साल: स्मृति दुनिया कर रही हरमन की तारीफ, किसी ने भेजा कार्ड तो किसी ने फर्नीचर
युवराज के हरफनमौला खेल से मिली भारत को जीत
पुणे, एजेंसी First Published:20-12-12 11:18 PMLast Updated:21-12-12 12:08 PM
Image Loading

भारतीय क्रिकेट टीम ने पुणे के सुब्रत रॉय सहारा स्टेडियम में गुरुवार को खेले गए टी-20 मुकाबले में इंग्लैंड को पांच विकेट से पराजित कर दिया। इसके साथ ही दो मैचों की टी-20 श्रृंखला में उसने 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।

भारत की जीत के नायक रहे युवराज सिंह, जिन्होंने गेंद और बल्ले दोनों से अपना जलवा दिखाया। गेंदबाजी करते हुए उन्होंने चार ओवर के अपने कोटे में सिर्फ 19 रन खर्च करते हुए तीन विकेट झटके। बल्ले से भी उन्होंने अपना जौहर दिखाया और सिर्फ 21 गेंदों पर 38 रन ठोंक डाले। इस दौरान उन्होंने तीन जोरदार छक्के और दो चौके लगाए। युवराज को उनके इस प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच के पुरस्कार से नवाजा गया।

भरतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने निर्धारित 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 157 रन बनाए। इंग्लैंड की तरफ से सबसे अधिक एलेक्स हेल्स ने 35 गेंदों पर 56 रन बनाए। इसके अलावा ल्युक राइट ने 34, जोस बटलर ने 33 और समित पटेल ने 24 रनों का योगदान दिया।

भारत की तरफ से युवराज सिंह सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 19 रन देकर तीन विकेट झटके। इसके अलावा अशोक डिंडा को दो और आर. अश्विन को एक विकेट मिला।

टी-20 में अपना पदार्पण मैच खेल रहे दिल्ली के परविंदर अवाना खर्चीले साबित हुए और सिर्फ दो ओवरों में उन्होंने 29 रन लुटाए। लक्ष्य का पीछा करने के लिए भारत की ओर से गौतम गंभीर और अंजिक्य रहाणे ने पारी की शुरुआत की। दोनों ने अच्छी शुरुआत देते हुए पहले विकेट के लिए 42 रन जोड़े। इसी योग पर गंभीर के रूप में भारत को पहला झटका लगा।

गंभीर ने 16 गेंदों पर 16 रन बनाए। उनका विकेट टिम ब्रेसनन के खाते में गया। ब्रेसनन के इसी ओवर की आखिरी गेंद पर रहाणे भी चलते बने। उन्होंने 13 गेंदों पर 19 रनों की पारी खेली। इसके बाद युवराज संह और विराट कोहली ने पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए सर्वाधिक 49 रन जोड़े।

युवराज सिंह ने ताबड़तोड़ पारी खेली और ऐसा ही एक जोरदार शॉट लगाने के चक्कर में ल्यूक राइट की गेंद पर स्टुअर्ट मीकर के हाथों लपके गए। यह मीकर का पदार्पण मैच था। कुल 110 की रनसंख्या पर कोहली भी गैरजिम्मेदाराना शॉट खेलकर आउट हुए। उन्होंने 21 रनों का योगदान दिया। उनका विकेट मीकर ने लिया। इसके बाद सुरेश रैना और कप्तान धौनी ने पांचवें विकेट के लिए 38 रनों की साझेदारी कर टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचाया।

इसी दौरान रैना को दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट होकर पवेलियन लौटना पड़ा। उन्होंने 19 गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से 26 रन बनाए। कप्तान धौनी 24 रन बनाकर नाबाद रहे। इंग्लैंड की ओर से ब्रेसनन ने दो विकेट झटके जबकि राइट और मीकर को एक-एक विकेट हासिल हुआ।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
Image Loadingधौनी से कप्तानी के गुर सीखे : होल्डर
वेस्टइंडीज की वनडे टीम के युवा कप्तान जैसन होल्डर को लगता है कि चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ बिताये गये दिनों में उन्हें किसी और से नहीं बल्कि भारत के सीमित ओवरों की टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी से कप्तानी के गुर सीखने को मिले थे।