रविवार, 21 दिसम्बर, 2014 | 18:58 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
आगरा के एत्मादपुर में कई हिन्दू परिवार बने ईसाई।
भारत के लिये करो या मरो का मुकाबला
अहमदाबाद, एजेंसी First Published:27-12-12 04:31 PMLast Updated:28-12-12 05:16 PM
Image Loading

पाकिस्तान के खिलाफ शुक्रवार को दूसरा और आखिरी टी20 मैच जीतकर सीरीज़ में बराबरी के लिये भारतीय क्रिकेट टीम को अपनी बल्लेबाजी में सुधार करके सही संयोजन के साथ उतरना होगा।
    
पहला मैच बेंगलुरू में पांच विकेट से हारने वाली भारतीय टीम को बल्लेबाजों ने निराश किया। एक समय स्कोर दो विकेट पर 90 रन था जो नौ विकेट पर 130 रन हो गया। भारत को दूसरा मैच जीतकर सीरीज़ में हर हालत में बराबरी करनी होगी लिहाजा कप्तान महेंद्र सिंह धौनी और टीम पर भारी दबाव होगा।
     
गौतम गंभीर (43) और अजिंक्य रहाणे (42) को छोड़कर पहले मैच में कोई बल्लेबाज नहीं चल सका। उमर गुल की अगुवाई में पाकिस्तानी गेंदबाजों ने उन्हें खुलकर खेलने का कोई मौका नहीं दिया।
     
सलामी बल्लेबाजों के अलावा हरफनमौला युवराज सिंह और सुरेश रैना ही दोहरे अंक तक पहुंच सके। विराट कोहली, धौनी, युवराज और रोहित शर्मा को चिर प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करना होगा।
     
गेंदबाजी भी भारत की चिंता का विषय है। पहले मैच में भुवनेश्वर कुमार के अलावा किसी भारतीय गेंदबाज को खेलने में पाकिस्तानियों को परेशानी नहीं हुई। अशोक डिंडा, ईशांत शर्मा, रविंद्र जडेजा को विकेट नहीं मिल सके। आर अश्विन को पिछले मैच से बाहर रखने का फैसला गलत साबित हुआ लिहाजा उन्हें अंतिम एकादश में जगह दी जा सकती है।
   
भारत को तीन तेज गेंदबाजों को उतारने की रणनीति पर भी पुनर्विचार करना होगा। अश्विन की जगह जडेजा को मौका देने के धौनी के फैसले की भी आलोचना हुई।
   
पाकिस्तानी कप्तान मोहम्मद हफीज ने कहा था कि अश्विन उनकी टीम में नहीं था लिहाजा हमारी रणनीति नयी गेंद को संभलकर खेलने की थी क्योंकि उसके बाद भारत के पास आला दर्जे के स्पिनर नहीं थे। मुझे पता था कि युवराज अच्छे फॉर्म में है लेकिन जब आपके पास विश्व स्तरीय स्पिनर नहीं है तो हम दबाव बनाने की स्थिति में थे।
     
इसके अलावा ईशांत को बार बार मौका दिया जाना भी आलोचकों को रास नहीं आ रहा है। भारतीय खेमे को शुक्रवार को अंतिम एकादश का चयन काफी सोच समझकर करना होगा। टी20 क्रिकेट में पिछले रिकॉर्ड को देखते हुए अंबाती रायुडू को भी मौका दिया जा सकता है।
    
दूसरी ओर पाकिस्तानी गेंदबाजों गुल, सोहेल तनवीर और मोहम्मद इरफान ने जबर्दस्त प्रदर्शन किया। वे इस लय को बरकरार रखने की कोशिश करेंगे हालांकि सरदार पटेल स्टेडियम की पिच से उतनी मदद शायद ना मिल सके।
    
पाकिस्तान की बल्लेबाजी हालांकि चिंता का विषय है। सलामी बल्लेबाज नासिर जमशेद और अहमद शहजाद पहले मैच में नहीं चल सके। उमर अकमल, कामरान अकमल और शाहिद अफरीदी जैसे बल्लेबाज भी बड़ा स्कोर नहीं बना सके। हफीज और शोएब मलिक ने मिलकर पाकिस्तान को संकट से निकाला और जीत तक पहुंचाया।

कप्तान धौनी ने पहले मैच में मिली हार के लिये मध्यक्रम के बल्लेबाजों को दोषी ठहराया था। उन्होंने कहा था कि बल्लेबाज ऊंचे शॉट खेलने के चक्कर में आउट हुए। यदि हम ठीक से खेलते तो 200 रन बना सकते थे।

छोटे प्रारूपों में अच्छे कप्तान के रूप में अपनी पहचान बना चुके धौनी पर जीत का भारी दबाव होगा क्योंकि हालिया मैचों में मिली हार से उनकी साख को ठेस पहुंची है।
 
टीमें :
भारत : महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), गौतम गंभीर, अजिंक्य रहाणे, विराट कोहली, रोहित शर्मा, सुरेश रैना, युवराज सिंह, अंबाती रायुडू, आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, पीयूष चावला, अशोक डिंडा, भुवनेश्वर कुमार, ईशांत शर्मा और परविंदर अवाना।

पाकिस्तान : मोहम्मद हफीज (कप्तान), नासिर जमशेद, कामरान अकमल, उमर अकमल, उमर अमीन, शोएब मलिक, शाहिद अफरीदी, सईद अजमल, मोहम्मद इरफान, जुनैद खान, सोहेल तनवीर, उमर गुल, असद अली, जुल्फिकार बाबर, अहमद शहजाद।
अंपायर : सुधीर आसनानी और विनीत कुलकर्णी
तीसरा अंपायर : सी शमसुददीन
मैच रैफरी : रोशन महानामा
मैच का समय : शाम पांच बजे से ।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड