सोमवार, 03 अगस्त, 2015 | 10:06 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    सावन के पहले सोमवार मंदिरों में उमड़ी भारी भीड़, जयघोष से गूंजे शिवाले मंगल गृह की परिक्रमा में ट्रैफिक जाम से बचने के लिए काम कर रहा है नासा बिहार: जेडीयू के टिकट पर चुनाव लड़ सकती हैं शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम पाकिस्तान ने फिर किया संघर्षविराम का उल्लंघन, कई चौकियों को निशाना बनाया याकूब मेमन के साथ हमदर्दी जताना राष्ट्र के लिये नुकसानदेह है: वेंकैया नायडू झारखंड की शिक्षा मंत्री की शिक्षा का जवाब नहीं, अब बिहार को बताया पड़ोसी देश पाकिस्तान ने 163 भारतीय मछुआरों को रिहा किया  हम टीचर्स की इज्जत करतें हैं, आपलोगों को नहीं मारेंगे: आईएस आतंकी  पीएम मोदी की गया रैली में प्रयोग होगा एसपीजी की 'ब्लू बुक' अलर्ट, जानिये क्या है 'ब्लू बुक'... लालू ने भरी हुंकार, कहा शोषितों की आजादी की दूसरी लड़ाई लड़ रहा राजद
इंग्लैंड को मिली सीरीज जीतने की खुशबू
नागपुर, एजेंसी First Published:16-12-2012 10:50:57 AMLast Updated:16-12-2012 05:35:07 PM
Image Loading

इंग्लैंड को 27 साल के लंबे अंतराल के बाद भारतीय जमीन पर सीरीज जीतने की खुशबू मिलने लगी है। इंग्लैंड ने यहां चल रहे चौथे टेस्ट के चौथे दिन रविवार को तीन विकेट पर 161 रन बना लिए हैं और नागपुर टेस्ट ड्रा की तरफ अग्रसर दिखाई दे रहा है।

इंग्लैंड के पास कुल बढ़त 165 रन की हो गई है जबकि उसके सात विकेट बाकी हैं। भारत ने अपनी पहली पारी नौ विकेट पर 326 रन के स्कोर पर घोषित की। पहली पारी में 330 रन बनाने वाले इंग्लैंड को चार रन की बढत मिली। कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी का पारी घोषित करने के पीछे उद्देश्य यही था कि इंग्लैंड की दूसरी पारी को जल्द समेटने की कोशिश की जाए।

भारत ने इंग्लैंड के तीन विकेट 94 रन पर गिरा दिए थे लेकिन जोनाथन ट्राट ने 153 गेंदों पर नौ चौकों की मदद से नाबाद 66 रन और इयान बेल ने 67 गेंदों पर चार चौकों की मदद से नाबाद 24 रन बनाकर भारत की उम्मीदों को झटका दे दिया। दोनों चौथे विकेट की अविजित साझेदारी में 23.1 ओवर में 67 रन जोड़ चुके हैं। भारत को यदि सीरीज में 2-2 की बराबरी हासिल करनी है तो उसे इंग्लैंड की शेष पारी को पांचवें दिन सुबह के सत्र में जल्दी समेटना होगा जबकि इंग्लैंड की कोशिश रहेगी कि उसके बल्लेबाज नागपुर की धीमी पिच पर आराम से समय गुजारें और मैच ड्रा कराकर 27 वर्ष के लंबे अंतराल के बाद भारतीय जमीन पर सीरीज जीत लें।

पहले तीन मैचों में शतक ठोकने वाले इंग्लैंड के कप्तान एलेस्टेयर कुक नागपुर में दूसरी पारी में भी सस्ते में आउट हुए। पहली पारी में एक रन बनाने वाले कुक ने दूसरी पारी में 93 गेंद खेलकर मात्र 13 रन बनाए। उन्हें आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर विकेटकीपर महेन्द्र सिंह धौनी ने लपका।

दूसरे ओपनर निक काम्पटन 135 गेंदों में एक चौके की मदद से 34 रन बनाकर लेफ्ट आर्म स्पिनर प्रज्ञान ओझा की गेंद पर पगबाधा हुए। पहली पारी में 73 रन बनाने वाले केविन पीटरसन ने दूसरे लेफ्ट आर्म स्पिनर रवीन्द्र जडेजा की आफ स्टंप पर पडी गेंद को टर्न मिलने की उम्मीद में बल्ला हवा में उठाकर छोड दिया लेकिन गेंद सीधी रही और आफ स्टंप से टकरा गई। पीटरसन ने 30 गेंदों में छह रन बनाए।

इसके बाद भारतीय गेंदबाजों की इंग्लैंड का चौथा विकेट हासिल करने की कोशिश नाकाम रही। कप्तान धौनी की क्षेत्ररक्षण सजावट ज्यादा कारगर नहीं रही। उन्होंने दिन के अंतिम ओवरों में लेग स्लिप लगा रखी थी लेकिन कैच आफ साइड से निकला। इशांत शर्मा की गेंद पर ट्राट की विकेट के पीछे कैच की जोरदार अपील अंपायर कुमार धर्मसेना ने ठुकरा दी। हालांकि धौनी और इशांत दोनों को ही यकीन था कि गेंद ने बल्ले का किनारा लिया था। लेकिन अंपायर संतुष्ट नहीं थे और उन्होंने इस अपील को नकार दिया। चौथे दिन की समाप्ति पर सुखद स्थिति में दिखाई दे रहा था और अंतिम दिन उसकी पूरी कोशिश मैच को ड्रा कराने की रहेगी।
 
इससे पहले भारत ने सुबह आठ विकेट पर 297 रन से आगे खेलना शुरू किया और धौनी ने नौ विकेट पर 326 रन के स्कोर पर भारत की पहली पारी घोषित कर दी। सुबह अश्विन सात रन पर नाबाद थे और वह पारी घोषित किए जाने के समय 65 गेंदों में 29 रन बनाकर नाबाद रहे। प्रज्ञान ओझा को लेफ्ट आर्म स्पिनर मोंटी पनेसर ने बोल्ड कर मैच का पहला विकेट लिया। इशांत शर्मा दो रन पर नाबाद रहे। इंग्लैंड की तरफ से तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने 32 ओवर में 81 रन देकर चार विकेट लिए। ऑफ स्पिनर ग्रीम स्वान को 31 ओवर में 76 रनपर तीन विकेट मिले। पनेसर ने 52 ओवर की मैराथन गेंदबाजी में 81 रन देकर एक विकेट हासिल किया।

नागपुर की धीमी पिच का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दोनों टीमों की पहली पारी तीन दिन के बाद जाकर समाप्त हुई। इंग्लैंड ने लंच तक बिना कोई विकेट खोए 17 रन और चायकाल तक दो विकेट खोकर 81 रन बनाए थे। दिन की समाप्त पर उसका स्कोर तीन विकेट पर 161 रन था।

मैच के तीसरे के आखिरी सत्र में चार विकेट गंवाने के कारण भारत के हाथ से इस मैच में जीत हासिल करने की उम्मीदें फिसल गईं। यदि अब भारतीय गेंदबाज अंतिम दिन की सुबह कोई करिश्मा कर जाएं तो भारत इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू जमीन पर अपना सम्मान बचा सकता है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingMCA ने शाहरुख के वानखेड़े स्टेडियम में प्रवेश करने से बैन हटाया
मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने अभिनेता शाहरुख खान पर वानखेड़े स्टेडियम में घुसने पर लगा प्रतिबंध हटा लिया है। एमसीए के उपाध्यक्ष आशीष शेलार के मुताबिक एमसीए ने यह फैसला रविवार को हुई मैनेजिंग कमेटी की बैठक में लिया है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?