शुक्रवार, 28 नवम्बर, 2014 | 16:25 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
इंग्लैंड का सूपड़ा साफ करने उतरेगा भारत
मुंबई, एजेंसी First Published:21-12-12 03:38 PM
Image Loading

टेस्ट सीरीज़ में मिली हार के बाद पहले टी20 क्रिकेट मैच में शानदार जीत दर्ज करने वाली भारतीय टीम शनिवार को यहां दूसरा और आखिरी मैच जीतकर इंग्लैंड का सफाया करने उतरेगी।
    
जीत की लय दोबारा हासिल करने के बाद भारत आसानी से इसे नहीं गंवाना चाहेगा। खास तौर पर जब इस सीरीज़ के तुरंत बाद पाकिस्तान के खिलाफ बहुप्रतीक्षित सीरीज़ खेलनी है।
    
भारत और पाकिस्तान 25 और 28 दिसंबर को टी20 मैच खेलने के बाद तीन वनडे मैचों की सीरीज़ खेलेंगे। दूसरी ओर द्विपक्षीय सीरीज़ में भारत से पहला टी20 मैच हारने वाली इंग्लैंड की टीम क्रिसमस और नये साल की छुट्टियां मनाने जीत के साथ स्वदेश लौटना चाहेगी।
   
भारत को इस मैच से पहले गेंदबाजी और बल्लेबाजी में कुछ कमजोर कड़ियों पर मेहनत करनी होगी। गेंदबाजी में शुरूआती और आखिरी ओवर चिंता का विषय बने हुए हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले परविंदर अवाना अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके जबकि अशोक डिंडा को शॉर्ट गेंदें फेंकने का खामियाजा भुगतना पड़ा।
     
बाद में डिंडा ने दो विकेट लिये लेकिन अवाना ने दो ओवर में 29 रन दे डाले। शनिवार के मैच में भुवनेश्वर कुमार या अभिमन्यु मिथुन को मौका दिया जा सकता है। मैडन ओवर से शुरूआत करने वाले स्पिनर आर अश्विन ने भी 33 रन दिये जबकि रविंद्र जडेजा ने तीन ओवर में 22 और पीयूष चावला ने 24 रन दिये।

बीच के ओवरों में हालांकि युवराज सिंह ने बेहतरीन गेंदबाजी करके मैच इंग्लैंड की जद से बाहर कर दिया। उन्होंने 19 रन देकर तीन विकेट लिये। इंग्लैंड के कप्तान ईयोन मोर्गन ने स्वीकार किया कि उनकी टीम 15-20 रन पीछे रह गई।
    
उन्होंने कहा कि हमने अच्छी शुरूआत की। एलेक्स और ल्यूक ने सलामी जोड़ी के रूप में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन उसके बाद हम इसे कायम नहीं रख सके। हेल्स और राइट ने ताबड़तोड़ 68 रन बना लिये। इसके बाद हालांकि युवराज ने बेहतरीन गेंदबाजी करके मैच का पासा पलट दिया। बल्लेबाजी में भारत ने भी अच्छी शुरूआत की लेकिन गौतम गंभीर और अजिंक्य रहाणे ने बड़े शॉट खेलने के प्रयास में अपने विकेट गंवाये।
      
टी20 क्रिकेट के बादशाह युवराज ने बल्ले से भी अपनी उपयोगिता साबित करते हुए 21 गेंद में 38 रन बनाये। भारत ने 13 गेंद शेष रहते मैच जीत लिया। इंग्लैंड को भी दूसरे मैच से पहले कई पहलुओं में सुधार करना होगा। उसे बीच के ओवरों के लिये प्रभावी स्पिनर की जरूरत है क्योंकि डैनी ब्रिग्स और जेम्स ट्रेडवेल प्रभावित नहीं कर पा रहे हैं।
    
स्टुअर्ट मीकर ने भारतीय बल्लेबाजों को परेशान किया। टिम ब्रेसनन भी प्रभावी रहे। बल्लेबाजी में भारत के खिलाफ तीन मैचों में फ्लॉप रहे हेल्स ने गुरुवार को अच्छा प्रदर्शन किया।
टीमें :
 
भारत : महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), गौतम गंभीर, अजिंक्या रहाणे, विराट कोहली, रोहित शर्मा, सुरेश रैना, युवराज सिंह, अंबाती रायुडू, आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, पीयूष चावला, अशोक डिंडा, भुवनेश्वर कुमार, अभिमन्यु मिथुन और परविंदर अवाना।

इंग्लैंड : ईयोन मोर्गन (कप्तान), जेम्स हैरिस, जॉनी बेयरस्टा, टिम ब्रेसनन, डैनी ब्रिग्स, जोस बटलर, जेड डर्नबाक, एलेक्स हेल्स, माइकल लम्ब, स्टुअर्ट मीकर, समित पटेल, जो रूट, जेम्स ट्रेडवेल, ल्यूक राइट।
मैच का समय : शाम सात बजे से।

 
 
 
टिप्पणियाँ