शनिवार, 20 दिसम्बर, 2014 | 12:45 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
जम्मू के सोपोर में सरपंच की हत्या, संदिग्धों ने गोली मारकर सरपंच गुलाम अहमद भट्ट की हत्या की।झारखंड: पोडैयाहाट के बूथ नंबर 133 पर फर्जी़ वोटिंग को लेकर दो लोग गिरफ़तारयूपी: मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना क्षेत्र के गांव परासौली के धार्मिक स्थल में देर रात असामाजिक तत्व ने जानवरों के कटे हुए सिर रखे, नंदी की मूर्ति भी चुराई, तनाव, एडीएम प्रशासन सहित कई आलाधिकारी मौके पर पहुंचे, पीएसएसी व पुलिस बल तैनातजम्मू में सुबह 10 बजे तक 12.09 प्रतिशत मतदान।ब्रिस्बेन टेस्ट : 4 विकेट से हारा भारतझारखंड: सुबह 11 बजे तक जामताड़ा-34, नाला-35, बोरियो-33, राजमहल-33, बरहेट-40, पाकुड़-41, लिट्टीपाड़ा-40, महेशपुर-39, दुमका-31, जामा-33, जरमुंडी-37, शिकारीपाड़ा-35, सारठ-39, पोड़ैयाहाट-37, गोड्डा-28, महगामा-35 प्रतिशत मतदान हुआझारखंड: गोड्डा के बूथ-315,316 पर भजपा प्रत्याशी के बेटा पर मारपीट करने का आरोप, आधे घंटे बाधित हुआ मतदानझारखंड: लिट्टीपाड़ा बूथ नं 32 धूप निकलने के साथ निकले मतदाता, मतदान केंद्र से सड़क तक लगी लंबी लाइनझारखंड: चित्र आदर्श बूथ पर विधानसभा अध्यक्ष शशांक शेखर के परिजनों ने डाला वोटझारखंड : भाजपा प्रत्याशी लुइस मरांडी ने दुमका में बूथ-68 पर झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं पर पैसा बांटने का आरोप लगाया, प्रशासन से की शिकायत, एसडीओ ने थानेदार को तत्काल जांच करने भेजाजम्मू-कश्मीर: राज्य की 87 सदस्यीय विधानसभा में नेकां के 28, पीडीपी के 21, कांग्रेस के 17 और भाजपा के 11 विधायक हैं।जम्मू-कश्मीर: पिछले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इन 20 में से 11, कांग्रेस ने पांच और नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) ने तीन सीटों पर जीत हासिल की थी। पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) एक सीट पर ही सिमट कर रह गई थी।झारखंड : बोरियो विस क्षेत्र के बूथ नंबर 67 पर चुनाव को लेकर बढ़ी चौकसीझारखंड: लिट्टीपाड़ा के फतेहपुर गांव की महिलाओं को उम्मीद कि नई सरकार पेयजल की समस्या हल करेगीदुमका विधानसभा क्षेत्र के माहरो बूथ पर लगी लंबी कतार, दुमका सीट से मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन लड़ रहे हैंसाहिबगंज जिले के उधवा में मौसम भी मेहरबान रहा, सुबह धूप निकली, मतदाताओं में उत्‍साहजम्मू के डिवीजनल कमिश्नर अजित कुमार साहू का कहना है कि मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। ठंड के बावजूद बड़ी संख्या में लोग वोट डालने आ रहे हैं। साहू ने कहा कि हमने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं और कहीं से भी हिंसा की कोई खबर नहीं है।राजौरी में मतदान करने के बाद एक वोटर ने कहा कि लोगों में मतदान को लेकर उत्साह है और सभी जगह शांतिपूर्ण तरीके से मतदान चल रहा है।शुक्रवार की रात नौशेरा में पीडीपी कार्यकर्ताओं के हमले में घायल भाजपा प्रत्याशी रविंद्र रैना को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।यूपी: अमरोहा के चौधरपुर गांव में युवक की गला घोंट कर हत्या, सुबह घर के बाहर मिला शव, पुलिस पूछताछ में जुटीदुमका के कुछ वोटरों से हिन्दुस्तान ने बातचीत कर जानना चाहा कि उनकी वोटिंग का आधार क्या है? 35 साल के सत्येंद्र सिंह का कहना है स्थायी सरकार मुद्दा है, तो 42 साल के जवाहर लाल का कहना है कि शिक्षा के क्षेत्र में विकास है मुद्दा।झारखंड: सुबह 9 बजे तक जामताड़ा-13, नाला-11, बोरियो-20, राजमहल-18, बरहेट-11, पाकुड़-16, लिट्टीपाड़ा-16, महेशपुर-18,दुमका-11, जामा-14, जरमुंडी-12, शिकारीपाड़ा-14, सारठ-14, पोड़ैयाहाट-11, गोड्डा-12, महगामा-10 प्रतिशत मतदान हुआझारखंड: पाकुड़ जिले के लिट्टीपाड़ा विस क्षेत्र में बूथ-134 में बुनियादी सुविधाओं की मांग को लेकर हुआ बहिष्कार, 9 बजे फिर शुरू हुआ मतदानझारखंड : बोरियो के बूथ नं 208 में एक घंटे में 124 वोट पड़े
तेंदुलकर की भावनाओं की कद्र करें: कुंबले
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-11-12 07:44 PM
Image Loading

सचिन तेंदुलकर के संन्यास को लेकर चल रही चर्चा के बीच पूर्व भारतीय कप्तान अनिल कुंबले ने टीम में इस स्टार बल्लेबाज की जगह पर सवाल उठा रहे लोगों की कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि तेंदुलकर की भावनाओं की कद्र की जानी चाहिए।

तेंदुलकर लंबे समय से खराब फार्म में चल रहे हैं और कई लोगों ने भारतीय टीम में उनके स्थान पर सवाल खड़े किये हैं लेकिन कुंबले ने कहा कि यह समय उन पर उंगली उठाने का नहीं बल्कि समर्थन करने का है। कुंबले ने वीक पत्रिका में अपने कालम में लिखा, कई ऐसे मौके थे जबकि उन्होंने अकेले भारत को जीत दिलाई लेकिन वह भारत की हार के एकमात्र कारण कभी नहीं रहे। बेहतर यही होगा कि उनके सामने जो है उससे उन्हें खुद निबटने दें क्योंकि कोई उनकी जगह नहीं ले सकता। किसी ने अब तक 192 टेस्ट मैच नहीं खेले हैं, 34 हजार रन नहीं बनाए हैं या 100 शतक नहीं लगाए हैं। उन्हें वह सम्मान दें जिसके वह हकदार हैं।

उन्होंने लिखा है, पिछले 23 साल में उन्होंने लोगों के सपने साकार करने में मदद की। उन्हें भावनात्मक रूप से बेहतर महसूस कराया। अब हमें उनकी भावनाओं की भी कद्र करनी चाहिए।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड