गुरुवार, 23 अक्टूबर, 2014 | 15:41 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
धौनी के बचाव में आए भज्जी, कहा माही बेहतर कप्तान
जालंधर, एजेंसी First Published:28-11-12 06:07 PM
Image Loading

हरभजन सिंह ने आलोचकों के निशाने पर खड़े कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का बचाव करते हुए बुधवार को कहा कि केवल एक मैच में हार से उस कप्तान की आलोचना नहीं की जानी चाहिए जिसकी अगुवाई में टीम विश्व चैंपियन बनी थी।

धौनी ने इंग्लैंड के खिलाफ मुंबई में खेले गये दूसरे टेस्ट मैच में टर्निंग विकेट तैयार करवाया था लेकिन उनका यह दांव उल्टा पड़ गया तथा भारत को दस विकेट से करारी हार झेलनी पड़ी। साथी खिलाड़ी सुरेश रैना के साथ यहां अपनी क्रिकेट अकादमी में आए हरभजन ने कहा कि इसके लिए धौनी की आलोचना करना अनुचित है। हरभजन ने पत्रकारों से कहा कि मैचों में हार जीत लगी रहती है। एक मैच में हार जाने से खिलाडियों की और खास तौर से महेंद्र सिंह धौनी जैसे कप्तान की आलोचना नहीं की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि धौनी वही कप्तान हैं जिन्होंने हमें 1983 के बाद पहली बार विश्व चैंपियन बनवाया है। वह भारत के बेहतर और सफलतम कप्तानों में से हैं। इसलिए एक मैच के हार जाने से उनकी क्षमता पर सवाल उठाया जाना और उनकी आलोचना सही नहीं है।

हरभजन ने दावा किया कि टीम कोलकाता में पांच दिसंबर से शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में वापसी करने में सफल रहेगी। उन्होंने कहा कि कोलकाता में अगला मुकाबला है। हमें वहां जीत मिलेगी। लोगों को यह नहीं भूलना चाहिए कि इंग्लैंड को हम भी उनकी सरजमीं पर हरा चुके हैं। इसलिए अगर टीम एक मैच हार जाती है तो इससे कप्तान और खिलाड़ियों को कटघरे में खड़ा करना सही नहीं है।

हरभजन ने कहा कि कई मौकों पर हमने इंग्लैंड में मैच जीता है। मैं दोबारा कह रहा हूं कि हार जीत चलती रहती है। कोलकाता में हमारा प्रदर्शन बेहतर होगा और हम वहां टेस्ट भी जीतेंगे। हम इसकी योजना भी बना रहे हैं।

खराब फार्म में चल रहे सचिन तेंदुलकर को महान खिलाडी करार देते हुए हरभजन ने कहा कि सचिन का भारत ही नहीं बल्कि विश्व क्रिकेट में अमूल्य योगदान है। वह एक या दो मैच में नहीं चल पाये हैं तो इसके लिए उनकी आलोचना नहीं की जानी चाहिए।

हरभजन ने कहा कि वह लगातार खेलें। यह मेरी इच्छा है और इससे टीम का मनोबल बढ़ता है। कोलकाता का मैदान सचिन का पसंदीदा मैदान है। अगले टेस्ट में उनका प्रदर्शन बेहतर होगा और इससे वह अपने आलोचकों को करारा जवाब देंगे।
 
 
 
टिप्पणियाँ