गुरुवार, 27 नवम्बर, 2014 | 12:05 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई से पूछाआईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में चेन्नई सुपरकिंग्स पर रोक क्यों नहीं लगाई
'सीए की रिपोर्ट के बावजूद ग्रीन पार्क पर होगा मैच'
कानपुर, एजेंसी First Published:15-12-12 12:50 PM
Image Loading

उत्तर प्रदेश की औद्योगिक नगरी कानपुर के ग्रीनपार्क पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) की प्रतिकूल सोच के बावजूद स्टेडियम प्रशासन को भरोसा है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच यहां खेले जाने वाला प्रस्तावित टेस्ट मैच बिना किसी बाधा के सम्पन्न होगा।
 
ग्रीनपार्क के खेल अधिकारी अनिल कुमार बनौधा ने कहा कि ग्रांउड की तैयारियां चरम पर हैं। आउटफील्ड और पिच के अलावा पवेलियन और दर्शक दीर्घा का काम अंतिम चरण पर है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के सदस्य मोरान के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल ने इस पर अपना संतोष व्यक्त किया था। अब यदि वह अपनी रिपोर्ट में कहते हैं कि ग्रीनपार्क उनके मानकों पर खरा नहीं है तो यह हास्यास्पद है।
 
बनौधा ने कहा कि उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ (यूपीसीए) के अधिकारियों ने बुधवार को एक पत्र भेजकर उनसे 10 जनवरी तक स्टेडियम को तैयार करने का अनुरोध किया था और नका निदेशालय तय सीमा अवधि तक संघ को स्टेडियम तैयार करके दे देगा। उन्होंने कहा कि संघ के पदाधिकारियों ने स्टेडियम को आठ मार्च से 18 मार्च तक लीज पर मांगा है और हम स्टेडियम को तैयार अवस्था में देने को कटिबद्ध है।
 
सीए के रवैए पर हैरानगी जताते हुए पिच क्यूरेटर शिव कुमार ने कहा कि मोरान और उनके दल के सदस्यों के साथ बातचीत में ऐसा कुछ नहीं लगा था कि वे पिच और ग्राउंड की स्थिति से अंसतुष्ट है। मगर कुमार को विश्वास है कि तय समय सीमा के भीतर सीए अथवा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का प्रतिनिधिमंडल ग्रीनपार्क को क्लीन चिट अवश्य देगा और दो अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी गंवाने के बाद ग्रीनपार्क इस मौके को आसानी से नहीं जाने देगा।

इस बारे में अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए यूपीसीए के किसी पदाधिकारी से दूरभाष पर भी संपर्क नहीं हो सका। मगर ग्रीनपार्क प्रशासन और पिच क्यूरेटर की उम्मीदों से लगता है कि ग्रीनपार्क इस महत्वपूर्ण मुकाबले की मेजबानी खोने को कतई तैयार नहीं है। ग्रीनपार्क में आखिरी बार टेस्ट मैच नवंबर 2009 में श्रीलंका के खिलाफ खेला गया था।
 
उल्लेखनीय है कि बर्नार्ड मोरान के नेतृत्व में आए सीए के प्रतिनिधिमंडल ने ड्रेसिंग रूम, डाइनिंग हॉल और पवेलियन खंड की प्रगति पर नाराजगी जताई है। मोरान ने पिच, ग्राउंड और सुरक्षा संबधी एक विस्तृत रिपोर्ट सीए को दी थी।
 
बीसीसीआई सूत्रों के मुताबिक सीए ने ग्रीनपार्क को लेकर नाराजगी जताई है जिसके बाद बीसीसीआई ने यूपीसीए को ग्रीनपार्क की तैयारी पूरी करने के लिए 15 दिन की मोहलत दी है। ग्रीनपार्क में 15 दिन की समयसीमा में सब कुछ ठीकठाक नहीं हुआ तो मैच अन्यत्र स्थानांतरित किया जा सकता है। इसके लिए हैदराबाद के राजीव गांधी अंतररष्ट्रीय स्टेडियम को विकल्प के तौर पर तैयार रखा गया है।

 
 
 
टिप्पणियाँ