रविवार, 21 दिसम्बर, 2014 | 05:11 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
बैंगलोर के खिलाफ लय हासिल करना चाहेगा चेन्नई
चेन्नई, एजेंसी First Published:11-04-12 02:37 PMLast Updated:11-04-12 02:49 PM
Image Loading

तीन मैच में दूसरी शर्मनाक हार के बाद पिछला चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स इंडियन प्रीमियर लीग में गुरुवार को यहां रॉयल चैंलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ नए सिरे से शुरुआत करके विजयी लय में लौटने की कोशिश करेगा।

महेंद्र सिंह धौनी की अगुवाई वाली टीम के लिए अभी तक का सफर उतार चढ़ाव वाला रहा है। खिताब की हैट्रिक पर निगाह गढ़ाने वाली इस टीम को मुंबई इंडियन्स ने पहले मैच में बुरी तरह हराया था। उसने अच्छी वापसी करके डेक्कन चार्जर्स को हराया लेकिन फिर से मंगलवार रात दिल्ली डेयरडेविल्स के सामने घुटने टेक दिए। उसकी सबसे बड़ी कमजोरी विकेटों के बीच दौड़ यानि बल्लेबाजों का बेवजह रन आउट होना है।

डेनियल विटोरी की अगुवाई वाली रॉयल चैलेंजर्स को भी पिछले मैच में बेंगलूर में कोलकाता नाइटराइडर्स से हार का सामना करना पड़ा था। इससे पहले उसने अपने शुरुआती मैच में डेयरडेविल्स को हराया था।

चेन्नई का मजबूत पक्ष उसकी बल्लेबाजी है लेकिन अभी तक फाफ डु प्लेसिस, मुरली विजय, सुरेश रैना, रविंदर जडेजा और धौनी कमाल नहीं दिखा पाये हैं। मुंबई और दिल्ली के खिलाफ मैच में सुपरकिंग्स बमुश्किल 100 रन के पार पहुंच पाये और दोनों से उसे आठ विकेट के समान अंतर से हार झेलनी पड़ी। अब घरेलू दर्शकों के सामने चेन्नई पर निश्चित तौर पर दबाव होगा।

दिल्ली के खिलाफ मैच में चेन्नई के चार बल्लेबाज रन आउट हुए जो आखिर में टीम की हार का कारण भी बना। धौनी ने भी स्वीकार किया कि उनकी टीम अच्छी क्रिकेट नहीं खेल पायी।

चेन्नई को गुरुवार को अपने घरेलू मैदान पर पूरे अंक हासिल करने चाहिए क्योंकि चेपक स्टेडियम की नई पिच की उन्हें अच्छी जानकारी हो गयी है लेकिन काफी हद तक विजय, रैना और धौनी के फॉर्म पर निर्भर करेगा।

इस साल नीलामी में सबसे अधिक कीमत पर बिके रविंदर जडेजा ने डेक्कन के खिलाफ तेजतर्रार 48 रन बनाने के लिए अलावा 16 रन देकर पांच विकेट लिए थे और उनकी भूमिका भी महत्वपूर्ण होगी। चेन्नई की गेंदबाजी विभाग भी अभी तक ढीला दिख रहा है। तेज गेंदबाज डग बोलिंजर और एल्बी मोर्कल बल्लेबाजों को दबाव में रखने में नाकाम रहे हैं। स्पिन विभाग में आर अश्विन भी खास चुनौती पेश नहीं कर पाये हैं।

दूसरी तरफ रॉयल चैलेंजर्स की भी अपनी समस्याएं हैं। पिछले साल टीम को फाइनल तक पहुंचाने वाले क्रिस गेल कल अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाये लेकिन अब भी वह बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स ने दिल्ली के खिलाफ 64 रन बनाए को लगातार एक जैसा प्रदर्शन करना होगा जबकि विराट कोहली को लंबी पारियां खेलने की जरूरत है। बेंगलोर की गेंदबाजी के अगुआ जहीर खान और श्रीलंकाई स्पिनर मुथैया मुरलीधरन हैं और इस विभाग में उसकी टीम चेन्नई से बेहतर दिख रही है।

मंगलवार रात मैच खेलने के कारण चेन्नई और बेंगलोर दोनों आज अभ्यास सत्र में भाग नहीं लिया और गुरुवार के मैच से पहले कुछ विश्राम लेना उचित समझा।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड