सोमवार, 24 नवम्बर, 2014 | 14:47 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
अमित शाह सोनरी एयरपोर्ट पहुंचे, पत्रकारों से नहीं की बात, पहली सभा आदित्‍यपुर में होगी
कुक दोहरे शतक से चूके, लेकिन इंग्लैंड की बढ़त मजबूत
कोलकाता, एजेंसी First Published:07-12-12 05:19 PM
Image Loading

कप्तान एलिस्टेयर कुक अपने करियर में पहली बार रन आउट होने के कारण शुक्रवार को यहां दोहरे शतक से चूक गए लेकिन इंग्लैंड ने तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच के तीसरे दिन भी भारत पर अपना दबदबा बनाए रखकर मजबूत बढ़त हासिल कर ली।

कुक 190 रन बनाकर रन आउट हुए, लेकिन पवेलियन लौटने से पहले वह इंग्लैंड को पहली पारी में बढ़त दिला चुके थे। इंग्लैंड ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक छह विकेट पर 509 रन बनाए हैं और इस तरह से उसे 193 रन की बढ़त मिल गई है। भारत ने पहली पारी में 316 रन बनाए थे। इंग्लैंड ने भारतीय सरजमीं पर चौथी बार और पिछले 28 साल में पहली बार 500 से अधिक रन बनाए।

कुक ने कल निक काम्पटन के साथ पहले विकेट के लिये 165 रन जोड़े थे और आज उन्होंने जोनाथन ट्राट (87) ने दूसरे विकेट के लिये 187 रन की साक्षेदारी की। केविन पीटरसन (54) अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पाये लेकिन मैट प्रायर (नाबाद 40) अच्छी लय में दिख रहे हैं। उनके साथ दूसरे छोर पर ग्रीम स्वान 21 रन बनाकर खेल रहे हैं।

यह चौथा अवसर है जबकि इंग्लैंड के चोटी के चार बल्लेबाजों ने भारत के खिलाफ 50 से अधिक रन बनाए। भारतीय गेंदबाजों ने फिर से निराश किया। रविचंद्रन अश्विन को पीटरसन का कीमती विकेट मिला लेकिन बाकी समय में वह प्रभाव छोड़ने में नाकाम रहे। इस आफ स्पिनर ने अभी तक 183 रन देकर एक विकेट लिया है।

बाएं हाथ के स्पिनर प्रज्ञान ओझा भारत के सबसे सफल गेंदबाज रहे हैं। उन्होंने 140 रन देकर तीन विकेट लिए हैं। एक विकेट तेज गेंदबाज इशांत शर्मा को मिला है। इंग्लैंड ने सुबह एक विकेट पर 216 रन से आगे खेलना शुरू किया।

कल के दोनों अविजित बल्लेबाजों कुक और ट्राट ने पहले सत्र में भारत को कोई सफलता हाथ नहीं लगने दी। कुक ने भारतीय गेंदबाजों को हताश करने में कसर नहीं छोड़ी जबकि ट्राट ने फार्म में वापसी की। भारतीय खिलाड़ी किस कदर हताश हो गए थे इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि इशांत शर्मा ने अपनी ही गेंद पर कुक का आसान कैच छोड़ा।

इंग्लैंड के कप्तान ने इसके अलावा बाकी समय में आसानी से गेंदबाजों का सामना किया। भारत को दिन की पहली सफलता ओझा ने दिलाई। ट्राट उनकी तेजी से घूमती गेंद पर ड्राइव करने की कोशिश की लेकिन वह उनके बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के दस्तानों में समा गयी। ट्राट की 223 गेंद की पारी में दस चौके शामिल हैं।

कप्तान कुक की रिकॉर्डतोड़ पारी आठ घंटे 12 मिनट तक चली। जब लग रहा था कि वह अपना तीसरा दोहरा शतक पूरा कर लेंगे तब विराट कोहली ने सीधे थ्रो पर उन्हें रन आउट कर दिया। नान स्ट्राइकर छोर से रन लेने के लिए आगे बढ़े कुक मामूली अंतर से क्रीज में पहुंचने से रह गए थे। उन्होंने 377 गेंदें खेली तथा 23 चौके और दो छक्के लगाए। यह कुक के टेस्ट ही नहीं प्रथम श्रेणी करियर में भी पहला अवसर है जबकि वह रन आउट हुए।

कुक ने अपने करियर में सातवीं बार 150 से अधिक का स्कोर बनाया। वह इंग्लैंड की तरफ से सर्वाधिक 23 शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने अब तक इस श्रंखला में 135.75 की औसत से 547 रन बना लिये हैं।

वह केन बैरिंगटन और माइक गैंटिंग के बाद इंग्लैंड के तीसरे बल्लेबाज है जिन्होंने भारत में एक श्रृंखला में 500 से अधिक रन बनाए। भारत को चाय के विश्राम के बाद दिन की तीसरी सफलता के लिए अधिक इंतजार नहीं करना पड़ा। पैतृत्व अवकाश के कारण मुंबई में दूसरा टेस्ट मैच नहीं खेल पाने वाले इयान बेल (5) को तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने तीसरे सत्र के दूसरे ओवर में ही आउट कर दिया। बेल ने बाहर जाती गेंद को खेलने में सुस्ती दिखायी। गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर धोनी के दस्तानों में चली गयी।

इस तरह से इस श्रृंखला में 267 ओवर के बाद किसी भारतीय तेज गेंदबाज को विकेट मिला। इससे पहले जहीर खान ने अहमदाबाद में खेले गए पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में टिम ब्रेसनन को आउट किया था।

भारत को इसके बाद सबसे बड़ी सफलता अश्विन ने दिलाई। मुंबई में बड़ी पारी खेलने वाले पीटरसन उसी लय में दिखाई दे रहे थे लेकिन अश्विन की गेंद पर स्वीप शाट खेलने के प्रयास में वह चूक गए और एलबीडब्ल्यू आउट होकर पवेलियन लौट गए।

समित पटेल (33) ने कुछ अच्छे शाट खेले। धोनी ने जब अश्विन की जगह ओझा को गेंद सौंपी तो पटेल ने दो चौकों से उनका स्वागत किया लेकिन बायें हाथ के इस स्पिनर इसी ओवर में उन्हें स्लिप में वीरेंद्र सहवाग के हाथों कैच करा दिया। सहवाग ने दूसरे प्रयास में यह कैच किया।

प्रायर और स्वान ने आखिरी घंटे में भारतीय गेंदबाजों को निराश किया। इन दोनों ने 13 ओवर तक विकेट नहीं गिरने दिया है और इस बीच वे 54 रन जोड़ चुके हैं। प्रायर ने कुछ आकर्षक शाट भी खेले जिनमें इशांत पर लगाया गया छक्का भी शामिल है।

 

 
 
 
टिप्पणियाँ