रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 04:19 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
अश्विन की अनुपस्थिति से फायदा मिला: हफीज
बेंगलूर, एजेंसी First Published:26-12-12 08:17 PM
Image Loading

पाकिस्तान के कप्तान मोहम्मद हफीज ने पहले टवेंटी20 मैच में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को अंतिम एकादश में शामिल करने के भारत के फैसले पर हैरानी जताते हुए कहा कि इससे उनकी टीम को फायदा हुआ। पाकिस्तान ने यह मैच पांच विकेट से जीता।

हफीज ने कहा कि अश्विन उनकी टीम में नहीं थे और हमारी योजना थी कि यदि हम नयी गेंद अच्छी तरह से खेल लेते हैं तो उनके पास विश्वस्तरीय स्पिनर नहीं हैं। मैं जानता हूं कि युवराज शानदार फॉर्म में हैं, लेकिन यदि आपके पास विश्वस्तरीय स्पिनर नहीं हैं तो हम दबदबा बना सकते हैं।

भारत इस मैच में तीन तेज गेंदबाजों ईशांत शर्मा, अशोक डिंडा और भुवनेश्वर प्रसाद के साथ उतरा था। स्पिन विभाग की जिम्मेदारी युवराज सिंह और रविंद्र जडेजा पर थी। जडेजा ने 2.4 ओवर किये और 29 रन लुटाये। भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने आखिरी ओवर करने का जिम्मा भी जडेजा को सौंपा जिस पर शोएब मलिक ने विजयी छक्का लगाया था।

धौनी ने हालांकि अश्विन को बाहर रखने के फैसले का बचाव किया। उन्होंने कहा कि अश्विन नयी गेंद के साथ अधिक सफल रहे हैं। उन्होंने कहा कि अश्विन हमारे मुख्य गेंदबाज हैं और उन्होंने पहले छह ओवरों में काफी गेंदबाजी की है। जब हमने टीम में तीन तेज गेंदबाज रखे तो हमने जडेजा को मौका दिया। इससे पहले के दो मैचों (इंग्लैंड के खिलाफ) में जब क्षेत्ररक्षण की पाबंदी नहीं रही तब अश्विन ने भी रन लुटाये हालांकि उन्होंने पहले छह ओवर (पावरप्ले) में अच्छी गेंदबाजी की।

अश्विन ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 2010 में पदार्पण किया था। तब से यह केवल दूसरा मैच था जिसमें वह नहीं खेले। इससे पहले वह इंग्लैंड के खिलाफ विश्व टवेंटी20 चैंपियनशिप का औपचारिक मैच नहीं खेले थे।

अश्विन से जब उनको बाहर किये जाने के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने दार्शनिक अंदाज में जवाब दिया, यहां तक कि फर्नांडो टोरेस को भी चेल्सी की तरफ से खेलते हुए बाहर बैठना पड़ता है।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ