रविवार, 02 अगस्त, 2015 | 03:45 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    बिहार का चुनाव बना प्रतिष्ठा का प्रश्न, झारखंड के भाजपाइयों ने डाला बिहार में डाला याकूब को फांसी दिए जाने के विरोध में सुप्रीम कोर्ट के डिप्टी रजिस्ट्रार ने दिया इस्तीफा दिल्ली में तेज हुआ पोस्टर वार, केजरीवाल सरकार के विज्ञापनों के खिलाफ भाजपा ने लगाए पोस्टर पूर्व गृह मंत्री सुशील शिंदे ने कहा, मैंने संसद में हिंदू आतंकवाद शब्द का इस्तेमाल कभी नहीं किया  पाकिस्तानी रेंजर्स ने किया सीजफायर का उल्लंघन, बीएसफ ने दिया करारा जवाब खेल रत्न के लिए सानिया के नाम की सिफारिश भाजपा सांसद वरुण गांधी का बयान, 94 फीसदी दलित, अल्पसंख्यक समुदाय को मिली फांसी की सजा विमान हादसे में ओसामा बिन लादेन के परिवार के सदस्यों की मौत  10 रुपए में ऐप उपलब्ध कराएगा गूगल प्ले  ISIS की शर्मनाक हरकत: चार साल के बच्चे को दी तलवार और कहा...मां का सिर काट डालो
'दुनिया को दिखेगा बदला हुआ कोहली'
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:01-01-2013 02:02:36 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

बीते वर्ष क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में भारत की तरफ से सर्वाधिक रन बनाने वाले विराट कोहली के व्यवहार को लेकर महान सुनील गावस्कर ने भी शिकायत थी, लेकिन इस युवा क्रिकेटर के कोच राजकुमार शर्मा ने वादा किया कि नये साल में दुनिया को बदला हुआ कोहली दिखायी देगा।

कोहली को इस समय कप्तान के रूप में महेंद्र सिंह धौनी का सर्वश्रेष्ठ विकल्प माना जा रहा है। गावस्कर का भी मानना है कि दिल्ली का यह क्रिकेटर कप्तान बनने पर टीम में मंसूर अली खां पटौदी जैसा जज्बा और ऊर्जा भर सकता है, लेकिन उन्होंने शिकायत की थी कि शतक जमाने या कोई उपलब्धि हासिल करने के बाद कोहली जिस तरह का व्यवहार करते हैं वह उन्हें पसंद नहीं है।

शर्मा ने हालांकि कहा कि अब कोहली परिपक्व हो गया है और आगे ऐसा व्यवहार नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि मैंने उसे समझा दिया है। मैं विश्वास दिलाता हूं कि वह आगे से ऐसा नहीं करेगा। वह अभी तक काफी युवा था और बहुत जल्दी जोश में आ जाता था, लेकिन अब वह परिपक्व हो गया है और नये साल में आपको पूरी तरह से बदला हुआ कोहली दिखेगा।

वर्ष 2012 में जब भारत के दिग्गज बल्लेबाज देश और विदेश में रन बनाने के लिये जूझते रहे तब कोहली ने तीनों प्रारूपों में सर्वाधिक रन बनाकर खुद को बेहतर बल्लेबाज साबित किया। उन्होंने नौ टेस्ट मैच में 49.21 की औसत और तीन शतकों की मदद से 689 रन बनाये।

कोहली के टेस्ट मैचों में इस प्रदर्शन को देखकर अब उन्हें धौनी की जगह टेस्ट कप्तान बनाने की मांग उठने लगी है। शर्मा मानते हैं कि यह 24 वर्षीय बल्लेबाज इसके लिये तैयार है, लेकिन वह चाहते हैं कि उनका यह स्टार शिष्य कप्तानी पर कम और अपनी बल्लेबाजी पर अधिक ध्यान लगाये।

उन्होंने कहा कि यह (कोहली को कप्तान बनाने का) फैसला चयनकर्ताओं को करना है। मैं समझता हूं कि अब वह इस जिम्मेदारी के लिये तैयार है, लेकिन मैंने उसे यही सलाह दी है कि वह कप्तानी के बारे में ज्यादा नहीं सोचे और केवल रन बनाने पर ध्यान केंद्रित करे।

कोहली ने वर्ष 2012 में केवल 17 वनडे अंतरराष्ट्रीय मैचों में 68.40 की औसत से 1026 रन बनाये जिसमें पांच शतक शामिल हैं। बीते साल उनसे अधिक रन केवल श्रीलंका के कुमार संगकारा (1184) और तिलकरत्ने दिलशान (1119) ने बनाये, लेकिन इन दोनों ने कोहली से 14 मैच अधिक खेले।

शर्मा को विश्वास है कि कोहली की यह फॉर्म 2013 में भी बरकरार रहेगी। उन्होंने कहा कि बीता साल उसके लिये बहुत अच्छा रहा और मैं चाहता हूं कि वह आगे भी निरंतर अच्छा प्रदर्शन करता रहे। मुझे विश्वास है कि 2013 में वह बेहतर परिणाम देगा।

कोहली ने टेस्ट और वनडे की तरह टी20 में भी वर्ष 2012 में शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने 14 मैच की 13 पारियों में 39.25 की औसत से 471 रन बनाये। वह महज एक रन से सर्वाधिक रन बनाने वाले मार्टिन गुप्टिल की बराबरी करने से चूक गये। कोहली ने इस बीच छोटे प्रारूप में चार अर्धशतक भी लगाये।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingआक्रामक शैली बरकरार रखें कोहली: द्रविड़
राहुल द्रविड़ को बतौर टेस्ट कप्तान श्रीलंका में पहली पूर्ण सीरीज खेलने जा रहे विराट कोहली के कामयाब रहने का यकीन है और उन्होंने कहा कि कोहली को अपनी आक्रामक शैली नहीं छोड़नी चाहिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?