शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 14:22 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आम आदमी की उम्मीदों को पूरा करे सरकार: शिवसेना वर्जिन का अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट की मौत केंद्र सरकार के सचिवों से आज चाय पर चर्चा करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा आज से शुरू करेगी विशेष सदस्यता अभियान आयोग कर सकता है देह व्यापार को कानूनी बनाने की सिफारिश भाजपा की अपनी पहली सरकार के समारोह में दर्शक रही शिवसेना बेटी ने फडणवीस से कहा, ऑल द बेस्ट बाबा झारखंड में हेमंत सरकार से समर्थन वापसी की तैयारी में कांग्रेस अब एटीएम से महीने में पांच लेन-देन के बाद लगेगा शुल्क  पेट्रोल 2.41 रुपये, डीजल 2.25 रुपये सस्ता
शर्मनाक हार से नहीं बच पाई टीम इंडिया
कोलकाता, एजेंसी First Published:09-12-12 10:39 AMLast Updated:09-12-12 12:30 PM
Image Loading

रविचंद्रन अश्विन की नाबाद 91 रन की साहसिक पारी की बदौलत भारत ने तीसरे टेस्ट में पारी की हार को तो टाल दिया, लेकिन वह मैच बचाने में नाकाम रहे और टेस्ट के पांचवें और आखिरी दिन उसे सात विकेट से इंग्लैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा।

भारत ने चौथे दिन के नौ विकेट पर 239 रन से आगे खेलना शुरू किया। भारत ने 84.4 ओवरों मे कुल 247 रन बनाकर इंग्लैंड के सामने 41 रनों का मामूली लक्ष्य रखा। इसके जवाब में इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में 12.1 ओवरों में तीन विकेट के नुकसान पर जीत दर्ज करने के साथ ही चार टेस्टों की सीरीज में 2.1 से बढ़त हासिल कर ली।

मैच के आखिरी दिन तक मैदान पर डटी हुई भारत की आखिरी जोड़ी अश्विन और प्रज्ञान ओझा देर तक मैच को खींचने में सफल नहीं हो सके और ओझा तीन रन बनाकर आखिरी विकेट के रूप में इंग्लैंड का शिकार बने। ओझा जेम्स एंडरसन के हाथों बोल्ड हो गए। लेकिन इसी के साथ अश्विन का शतक बनाने का सपना पूरा नहीं हो सका और वह 91 रन पर नाबाद रहे।

इंग्लैंड की ओर से ओपनिंग करने उतरे कप्तान एलेस्टेयर कुक शायद अपनी जीत को लेकर अति उत्साहित थे। इसी कारण अब तक अपनी बड़ी पारियों से टीम इंडिया की नाक में दम करने वाले कुक महज एक रन बनाकर अश्विन की गेंद पर आउट होकर सस्ते में लौट गए।

भारतीय गेंदबाजों ने हालांकि पांचवें दिन इंग्लैंड की आसान जीत को अधिक आसान नहीं रहने दिया और महज 4.2 ओवरों में मेहमान टीम ने अपने तीन विकेट गंवा दिए। इंग्लैड की ओर से इयान बेल ने मैच विजई पारी खेलते हुए 28 गेंदों में चार चौकों की मदद से नाबाद 28 रन बनाए।

इसके अलावा निक काम्पटन ने नाबाद 9, जोनाथन ट्रॉट 3 रन बनाए जबकि केविन पीटरसन अपना खाता नहीं खोल सके।

 

 
 
 
टिप्पणियाँ