शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 09:45 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    चीन सीमा पर 54 चौकियां बनाएगा भारत, 175 करोड़ के पैकेज की घोषणा  बर्धवान के बम थे बांग्लादेश के लिए: एनआईए नरेंद्र मोदी की चाय पार्टी में नहीं शामिल होंगे उद्धव ठाकरे भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें जमशेदपुर से लश्कर का आतंकवादी गिरफ्तार  कोई गैर गांधी भी बन सकता है कांग्रेस अध्यक्ष: चिदंबरम भाजपा के साथ सरकार के लिए उद्धव बहुत उत्सुक: अठावले रांची : एंथ्रेक्स ने ली सात लोगों की जान, 8 गंभीर हालत में भर्ती भारत-पाक तनाव के लिये भारत जिम्मेदार : बिलावल भुट्टो
BCCI ने निम्बालकर के निधन पर शोक जताया
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:12-12-12 02:25 PM
Image Loading

बीसीसीआई ने पूर्व रणजी क्रिकेटर बीबी निम्बालकर के निधन पर शोक जताया है। बढ़ती उम्र से जुड़ी बीमारियों के चलते बुधवार को उनका कोल्हापूर में निधन हो गया था।

बीसीसीआई सचिव संजय जगदाले ने एक बयान में कहा कि भाउसाहेब निम्बालकर बेहतरीन बल्लेबाज थे, जिनका प्रथम श्रेणी में औसत 57 था। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में किसी भारतीय के सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर का रिकॉर्ड अभी भी उनके नाम है। उन्होंने 1948-49 में महाराष्ट्र के लिए काठियावाड़ के खिलाफ नाबाद 443 रन बनाये थे।

उन्होंने कहा कि बीसीसीआई ने उन्हें 2002 में कर्नल सीके नायडू लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार दिया था। बोर्ड की ओर से मैं उनके परिवार को सांत्वना देता हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। उस समय उनकी इस पारी से बेहतर प्रथम श्रेणी स्कोर सिर्फ डॉन ब्रैडमैन के नाम था, जिन्होंने नाबाद 452 रन बनाये थे। बाद में ब्रैडमैन ने चिट्ठी लिखकर निम्बालकर से कहा था कि उनकी पारी उन्हें बेहतर लगी।

12 दिसंबर 1919 को जन्में निम्बालकर ने बड़ादा, होल्कर, महाराष्ट्र, राजस्थान और रेलवे के लिए खेला। उन्होंने रणजी ट्रॉफी में 56-72 की औसत से 3,687 रन बनाए, जिसमें 11 शतक शामिल है। उन्होंने 1939-40 से 1964-65 तक घरेलू करियर में 58 विकेट भी लिए। भारत के लिए वह कभी आधिकारिक टेस्ट नहीं खेल सके, लेकिन 1949-50 राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लेकर उन्होंने 48 रन बनाए थे।
 
 
 
टिप्पणियाँ