बुधवार, 05 अगस्त, 2015 | 17:59 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
शिक्षक दिवस के मौके पर शिक्षकों को दिए जाने वाले पुरस्कार की राशि को मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 25 हजार से बढ़ाकर 50 हजार किया।दुमका की मयुराक्षी नदी में नहाने के दौरान 6 बच्चे डूबे। 2 के शव निकाले गए। अन्य की तलाश जारी है।
अच्छी शुरुआत को नहीं भुना पाई टीम इंडिया
कोलकाता, एजेंसी First Published:05-12-2012 09:57:56 AMLast Updated:05-12-2012 05:06:26 PM
Image Loading

भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ चार मैचों की सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन बुधवार को अच्छी शुरुआत को भुनाने में असफल रही। दिन का खेल खत्म होने तक मेजबान ने अनुभवी बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और गौतम गम्भीर के अर्धशतकों की बदौलत अपनी पहली पारी में सात विकेट पर 273 रन बनाए।

कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (22) और जहीर खान (शून्य) नाबाद लौटे। इससे पहले, भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। भारत की ओर से सहवाग और गम्भीर ने पारी की शुरुआत की। दोनों बल्लेबाजों ने सम्भलकर खेलते हुए पहले विकेट के लिए 47 रन जोड़ टीम को ठोस शुरुआत दिलाई। सहवाग 23 रन के निजी योग पर रन आउट हो गए।

इसके बाद चेतेश्वर पुजारा अधिक देर तक क्रीज पर नहीं टिक सके और वह 16 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। पुजारा को स्पिनर मोंटी पनेसर ने बोल्ड किया। पुजारा ने गम्भीर के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 41 रन जोडे़। गम्भीर के रूप में भारत का तीसरा विकेट गिरा। उन्हें 60 रन के निजी योग पर पनेसर ने जोनाथन ट्रॉट के हाथों कैच कराया।

विराट कोहली छह रन बनाकर आउट हुए। कोहली को जेम्स एंडरसन ने ग्रीम स्वान के हाथों कैच कराया। युवराज सिंह 32 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें स्वान की गेंद पर कप्तान एलिस्टर कुक ने लपका। युवराज ने सचिन तेंदुलकर के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिए 79 रन जोड़े।

तेंदुलकर के रूप में भारत का छठा विकेट गिरा। तेंदुलकर को 76 रनों के निजी योग पर एंडरसन ने विकेट कीपर मैट प्रॉयर के हाथों कैच कराया। तेंदुलकर ने 155 गेंदों पर 13 चौके लगाए। रविचंद्रन अश्विन 21 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें एंडरसन ने बोल्ड कर अपना तीसरा शिकार बनाया।

अश्विन ने धौनी के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए 38 रन जोड़े। इंग्लैंड की ओर से एंडरसन ने तीन जबकि पनेसर ने दो विकेट झटके वहीं स्वान के खाते में एक विकेट गया।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

संता बंता और अलार्म

संता बंता से - 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह सुबह मेरी नींद खुल गई।

बंता - क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?

संता - नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।