शुक्रवार, 04 सितम्बर, 2015 | 07:02 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
बल्लेबाजों का फिर समर्पण, पाक ने चौथी बार जीती श्रृंखला
कोलकाता, एजेंसी First Published:03-01-2013 09:38:52 AMLast Updated:03-01-2013 10:05:57 PM
Image Loading

भारतीय बल्लेबाजों ने फिर से पाकिस्तान के गेंदबाजों के सामने समर्पण कर दिया जिसका पाकिस्तान ने पूरा फायदा उठाकर दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में गुरुवार को यहां 85 रन की जीत दर्ज करके तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल की।

पाकिस्तानी टीम ने भारत को खेल के हर क्षेत्र में कमजोर साबित किया। नासिर जमशेद ने विपरीत परिस्थितियों में शतक जमाया तो जुनैद खान, उमर गुल और सईद अजमल ने उम्दा गेंदबाजी से अपनी टीम को 12 गेंद शेष रहते हुए ही जीत दिला दी। पाकिस्तान ने इस तरह से ईडन गार्डन्स पर अपना अजेय अभियान बरकरार रखकर चौथी बार भारतीय सरजमीं पर श्रृंखला जीती।

आसमान बादलों से घिरा था। महेंद्र सिंह धोनी ने टास जीतकर पाकिस्तान को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित करने में देर नहीं लगाई। जमशेद ने ऐसे में 126 गेंदों पर 12 चौकों और दो छक्कों की मदद से 106 रन की लाजवाब पारी खेली।

उन्होंने कप्तान मोहम्मद हफीज (76) के साथ पहले विकेट के लिए 141 रन की साझेदारी की लेकिन मध्यक्रम लड़खड़ाने से पाकिस्तानी टीम 48.3 ओवर में 250 रन पर आउट हो गई। ईडन गार्डन्स की परिस्थितियों में यह स्कोर मुश्किल नहीं लग रहा था लेकिन भारत के शीर्ष बल्लेबाजों के पाकिस्तानी गेंदबाजों के सामने नतमस्तक होने से यह स्कोर भी पहाड़ जैसा बन गया।

धोनी (89 गेंद पर नाबाद 54) ही गेंदबाजों का डटकर सामना कर पाए लेकिन उन्हें दूसरे छोर से सहयोग नहीं मिला। भारतीय टीम 48 ओवर में 165 रन पर ढेर हो गई। भारत अब छह जनवरी को दिल्ली में आखिरी मैच में बची खुशी प्रतिष्ठा बचाने के लिए खेलेगा। पाकिस्तान की तरफ से अजमल और जुनैद ने तीन-तीन जबकि गुल ने दो विकेट लिए। भारत का अनुभवहीन आक्रमण सुबह परिस्थितियों का फायदा उठाने में नाकाम रहा लेकिन हार के दोषी उसके नामी बल्लेबाज रहे, जो चेन्नई के बाद कोलकाता में भी नाकाम रहे। पाकिस्तान ने चेन्नई में पहला मैच छह विकेट से जीता था।

वीरेंद्र सहवाग (31) और गौतम गंभीर (11) को जुनैद और मोहम्मद इरफान की गेंदों का सामना करने में परेशानी आयी। दोनों जुनैद की सीम और स्विंग लेती गेंदों से जूझ रहे थे जबकि इरफान ने अपने बाउसंर से उनकी अच्छी परीक्षा ली। गंभीर शुरू से संघर्ष कर रहे थे और पारी के दसवें ओवर में जुनैद की गेंद उनके बल्ले से लगकर विकेट में घुस गई। इसके बाद विराट कोहली (छह), सहवाग और युवराज सिंह (नौ ) ने भी दर्शकों को निराश करने में देर नहीं लगाई।

कोहली ने जुनैद के अगले ओवर में लेग साइड की तरफ जा रही गेंद को छेड़ा और कामरान अकमल ने अपनी बाईं तरफ डाइव लगाकर खूबसूरत कैच से भारत को दूसरा झटका दिया। उमर गुल 13वें ओवर में पहले बदलाव के रूप में आये और सहवाग और युवराज सिंह (नौ) को आउट करके भारत को करारे झटके दिए। सहवाग एलबीडब्ल्यू आउट हुए तो युवराज ने शार्ट पिच गेंद पुल करने के प्रयास में विकेट के पीछे कैच थमाया।

सुरेश रैना ने 42 गेंद पर 18 रन बनाए। अकमल ने पहले रैना और बाद में रविचंद्रन अश्विन को स्टंप आउट करके पाकिस्तान की जीत सुनिश्चित कर दी। अश्विन को रविंदर जडेजा से उपर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया था। अजमल ने अपने एक ओवर में तीन विकेट (जडेजा, भुवनेश्वर कुमार और अशोक डिंडा) को आउट करके रही सही कसर पूरी की।

धोनी ने जुनैद पर पहले छक्का और उनके अगले ओवर में तीन चौके जड़कर वनडे में 47वां अर्धशतक पूरा किया। इस तेज गेंदबाज ने इसी ओवर में इशांत शर्मा को आउट करके भारतीय पारी का अंत किया। इससे पहले स्पिनर जडेजा
( 41 रन देकर तीन विकेट) और तेज गेंदबाज इशांत (34 रन देकर तीन विकेट) की अच्छी गेंदबाजी से भारत ने नाटकीय वापसी की थी।

पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर अच्छी शुरुआत की। हफीज और जमशेद को भारतीय तेज गेंदबाजों को खेलने में किसी तरह की परेशानी नहीं हुई। डिंडा और भुवनेश्वर जैसे युवा गेंदबाज अनुकूल परिस्थितियों का फायदा नहीं उठा पाए जैसा कि कप्तान धोनी ने टास जीतने के बाद सोचा था।

दूसरी तरफ पाकिस्तानी सलामी जोड़ी ने चतुराई से बल्लेबाजी करके पहले पावरप्ले के लगभग हर ओवर में गेंद को सीमा रेखा के दर्शन कराए। अपने घरेलू मैदान पर पहला मैच खेल रहे डिंडा कई बाउंसर किए जिनमें से तीन को वाइड करार दिया। भुवनेश्वर में भी किसी तरह का पैनापन नहीं दिखा। इस बीच क्षेत्ररक्षण भी अच्छा नहीं रहा जिससे पाकिस्तानी जोड़ी का काम आसान हो गया।

हफीज ने 50 गेंद पर अपना 150वां अर्धशतक पूरा किया। इसके दो ओवर बाद जमशेद भी इस मुकाम पर पहुंच गये। पार्ट टाइम स्पिनर जडेजा ने आखिर में हफीज को बोल्ड करके यह साझेदारी तोड़ी। अजहर अली (2) का खराब फार्म जारी रहा और वह रन आउट होकर पवेलियन लौट गये। यूनिस खान (10) को एलबीडब्ल्यू आउट दिया गया जबकि गेंद उनके बल्ले को स्पर्श करके पैड पर लगी थी।

जमशेद ने हालांकि एक छोर संभाले रखा और अपना तीसरा शतक पूरा किया। उन्होंने अपने तीनों शतक भारत के खिलाफ लगाये हैं। वह आखिर तक क्रीज पर टिके रहने में नाकाम रहे और जडेजा के दूसरे शिकार बने। जडेजा ने इसी ओवर में अकमल (शून्य) को आउट किया जिसके बाद इशांत ने पुछल्ले बल्लेबाजों को समेटने में देर नहीं लगाई।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingसंगाकारा का ट्विटर हुआ हैक, आपत्तिजनक ट्वीट के लिए मांगी माफी
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर को हाल ही में अलविदा कहने वाले श्रीलंका के दिग्गज विकेटकीपर/बल्लेबाज कुमार संगाकारा ने बुधवार को कहा कि उनका ट्विटर अकाउंट हैक कर लिया गया था।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

जब संता गया बैंक लूटने...
संता बैंक में डकैती डालने पहुंचा मगर रिवॉलवर घर पर ही भूल गया...
मगर बैंक फिर भी लूट लाया बताओ कैसे?
क्योंकि बैंक मैनेजर बंता था...
बंता: (संता से बोला) कोई बात नहीं...पैसे ले जाओ रिवॉलवर कल दिखा जाना!!