शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 13:16 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
मेरठ: दोस्तों के साथ आये युवा व्यापारी की चाकुओं से गोदकर हत्यारक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, अमित शाह से मिलने पहुंचे। 2.30 बजे रक्षा मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस, OROP की घोषणा संभवउत्तराखंड: पिथौरागढ़ में शिक्षकों ने सम्मान समारोह का बहिष्कार कर सड़क पर भीख मांगी, चार माह से वेतन नहीं मिलने से नाराज हैं जूनियर हाईस्कूलों के शिक्षकहरियाणा के फरीदाबाद में 6 सितंबर से शुरु होगी मेट्रो, पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन, सीएम खट्टर ने की प्रेस कांफ्रेंस
भारत और पाकिस्तान में होगी श्रेष्ठता की जंग
बेंगलूर, एजेंसी First Published:24-12-2012 08:32:55 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

विश्व क्रिकेट की दो महाशक्तियां भारत और पाकिस्तान की टीमें मंगलवार को जब पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में उतरेंगी तो पांच साल के लंबे अंतराल के बाद दोनों के बीच मैदान में एक बार फिर वही पुरानी प्रतिद्वंद्विता देखने को मिलेगी जिसे देखने के लिए हर क्रिकेट प्रेमी बेकरार है।

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के वनडे क्रिकेट से संन्यास की खबरें रविवार को पूरे दिन सुर्खियों में रही, जिसके कारण भारत-पाक सीरीज के लिए अभी तक माहौल नहीं बन पाया। दोनों टीमों के बीच वर्ष 2007 के बाद यह पहली द्विपक्षीय सीरीज है। भारत और पाकिस्तान ने टी20 विश्वकप का खिताब जीता है और दोनों को ही इस फटाफट प्रारूप में माहिर माना जाता है।

भारत को हाल में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा था, जबकि टी20 सीरीज भी 1-1 से बराबरी पर छूटी। टीम इंडिया के लिए उसकी गेंदबाजी सबसे बड़ी चिंता है। टीम में अधिकांश तेज गेंदबाज चोटों से जूझ रहे हैं और यही वजह है कि उसके पास सीमित विकल्प हैं।

इंग्लैंड के खिलाफ मध्यम तेज गेंदबाजों अशोक डिंडा और परविंदर अवाना ने खासकर दूसरे मैच में जमकर रन लुटाए थे, लेकिन उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ टीम में बरकरार रखा गया है। टीम के सबसे अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन भी इंग्लैंड के खिलाफ अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे। लेफ्ट आर्म स्पिनर युवराज सिंह ने हालांकि दोनों मैचों में अच्छी गेंदबाजी की।

कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी ने भी इंग्लैंड के खिलाफ मुंबई में खेले गए दूसरे टी20 मैच में टीम की कमजोर गेंदबाजी पर चिंता जताई थी, लेकिन साथ ही उन्होंने युवा तेज गेंदबाजों का बचाव करते हुए कहा था कि वे अभी अनुभवहीन हैं और उन्हें प्रोत्साहन देने की जरूरत है।

जहां तक बल्लेबाजी का सवाल है तो इंग्लैंड के खिलाफ इस विभाग में भारत का प्रदर्शन कोई खास अच्छा नहीं था। दोनों मैचों में भारत को कोई भी बल्लेबाज अर्धशतक तक नहीं पहुंच पाया। युवराज ने पहले मैच में अच्छी बल्लेबाजी की, जबकि विराट कोहली, धौनी और सुरेश रैना ने दूसरे मैच में उपयोगी पारियां खेलीं। कुल मिलाकर भारतीय बल्लेबाज अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे।

गौतम गंभीर और आजिंक्य रहाणे पर एक बार फिर टीम को अच्छी शुरुआत देने की जिम्मेदारी रहेगी। गंभीर पिछले दोनों मैचों में अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में नहीं बदल पाए थे। इसके बाद विराट, युवराज, रोहित, धौनी और रैना पर टीम के स्कोर को आगे ले जाने की जिम्मेदारी होगी।

इस मैच के लिए भारत के अंतिम एकादश में कुछ बदलाव किए जाने की उम्मीद है। तेज गेंदबाजी विभाग में अनुभवी ईशांत शर्मा को लाया जा सकता है। ऐसे में डिंडा या अवाना में से किसी एक को बाहर बैठना पड़ सकता है। हालांकि अवाना पर गाज गिरने की ज्यादा संभावना है।

इसके अलावा लेग स्पिनर पीयूष चावला के स्थान पर ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा की अंतिम एकादश में वापसी तय है। पीयूष इग्लैंड के खिलाफ फ्लॉप साबित हुए थे। जडेजा गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी में भी कमाल दिखा सकते हैं।

टीमें:
भारत: महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), गौतम गंभीर, आजिंक्य रहाणे, युवराज सिंह, रोहित शर्मा, सुरेश रैना, विराट कोहली, रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, अशोक डिंडा, ईशांत शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, परविंदर अवाना, पीयूष चावला, अंबाती रायुडू।

पाकिस्तान: मोहम्मद हफीज (कप्तान), अहमद शहजाद, असद अली, जुनैद खान, कामरान अकमल, मोहम्मद इरफान, नासिर जमशेद, सईद अजमल, शाहिद अफरीदी, शोएब मलिक, सोहेल तनवीर, उमर अकमल, उमर अमीन, उमर गुल, जुल्फिकार बाबर।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingटीचर्स डे पर तेंदुलकर ने आचरेकर सर को ऐसे किया 'सलाम'
मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट के बल्लेबाजी के लगभग सभी बड़े रिकॉर्ड्स दर्ज हैं। तेंदुलकर को क्रिकेट के भगवान तक का दर्जा दिया गया है, लेकिन इन सबके पीछे एक इंसान का सबसे बड़ा योगदान रहा है, तेंदुलकर के गुरु रमाकांत आचरेकर।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।