Image Loading Chandauli: being hit by train in mist and fog, killing three - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 09 दिसम्बर, 2016 | 19:03 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • INDvsENG: दूसरे दिन का खेल खत्म, पहली पारी में भारत का स्कोर 146/1
  • पटना से दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस हुई रद। संपूर्ण क्रांति नियमित रूप...

चंदौली : धुंध कोहरे में ट्रेन की चपेट में आने से तीन की मौत

सकलडीहा। हिन्दुस्तान संवाद First Published:02-12-2016 02:03:03 PMLast Updated:02-12-2016 02:10:22 PM

सकलडीहा कोतवाली क्षेत्र के पीथापुर गांव के समीप शुक्रवार की सुबह लगभग साढ़े छह बजे धुंध कोहरे के बीच ट्रेन की चपेट में आने से तीन किशोर की दर्दनाक मौत हो गई। हालांकि उनके छह साथियों ने किसी तरह छलांग लगाकर अपनी जान बचा ली। सभी लड़के पौरा गांव से शादी समारोह में वेटर का काम कर पैदल ही रेलवे लाइन होते हुए तुलसी आश्रम स्टेशन लौट रहे थे। हादसे के बाद हड़कंप मच गया। घटना की जानकारी होते ही परिजन भी रोते बिलखते पहुंच गए।

पौरा गांव निवासी रामअरज प्रजापति के बेटी की गुरवार को शादी में टेंट हाउस की ओर से अलीनगर थाना क्षेत्र के रोहणा गांव के नौ लड़के वेटर का काम करने आए थे। शुक्रवार की सुबह लगभग साढ़े बजे गोपी, प्रमोद, दीपक, विकास, धर्मेंद्र, दरोगा, रामसेवक, सूरज व लक्ष्मण पैदल ही रेलवे लाइन से होते ही तुलसी आश्रम स्टेशन जा रहे थे। धुंध कोहरे के बीच पीथापुर गांव के समीप अचानक सामने अप विभूति एक्सप्रेस आ गई। ट्रेन को सामने देख गोपी, प्रमोद, दीपक, विकास, धर्मेंद्र व दरोगा ने समीप गड्ढें में छलांग लगा ली। लेकिन 14 वर्षीय रामसेवक, 15 वर्षीय सूरज व 16 वर्षीय लक्ष्मण ट्रेन में चपेट में आ गए। घटनास्थल पर ही तीनों की मौत हो गई। हादसे के बाद आस पास के ग्रामीण दौड़ पड़े। मौके पर पहुंचे कोतवाल विनय कुमार और नईबाजार चौकी इंचार्ज राधेश्याम सरोज ने पहुंचकर मृतकों के परिजनों को घटना की सूचना दी। रोते बिलखते परिजन भी घटनास्थल पहुंच गए। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए जिला अस्पताल भिजवाया।

ट्रेन से कटकर मां बेटे की मौत

सकलडीहा कोतवाली क्षेत्र के चतुर्भुजपुर गांव में शुक्रवार की सुबह लगभग पांच बजे ट्रेन की चपेट में आने से डेढ़ साल के मासूम संग विवाहिता की मौत हो गई। हादसे के बाद परिजनों में खलबली मच गयी। हालांकि पुलिस को सूचना दिए बिना ही परिजनों ने शव को अंतिम संस्कार कर दिया।

चतुर्भुजपुर गांव निवासी मुन्ना की लगभग दस साल पहले कमालपुर चौकी अंतर्गत बघरी गांव निवासी आजाद अंसारी की बेटी खुर्शीदा से निकाह हुई थी। दंपती को चार वर्षीय बेटा उस्मान व डेढ़ वर्षीय सुलेमान है। परिजनों के अनुसार 26 वर्षीया खुर्शीदा सुबह लगभग पांच बजे घर से बाहर निकलकर सीवान की ओर जा रही थी। उसी वक्त सुलेमान साथ में जाने की जिद से रोने लगा। खुर्शीदा अपने साथ सुलेमान को भी गोद में लेकर चल दी। लेकिन धुंध कोहरे की वजह से रेलवे लाइन पर ट्रेन की चपेट में आ गई। घटनास्थल पर ही मां बेटे की मौत हो गई। हादसे की खबर मिलते ही परिजन रोते बिलखते पहुंच गए। ग्रामीणों की मदद से परिजनों ने शव को कब्रिस्तान में सुपुर्दे-खाक कर दिया। उधर, कोतवाल विनय कुमार ने बताया कि घटना की जानकारी नहीं मिली है। मृतका के परिजन अथवा मायका पक्ष की ओर से किसी तरह की तहरीर नहीं दी गई है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Chandauli: being hit by train in mist and fog, killing three
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड