शुक्रवार, 03 जुलाई, 2015 | 22:49 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    फिल्म देखने से पहले पढ़ें 'गुड्डू रंगीला' का रिव्यू फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर जेनेसिस पूर्व रॉ प्रमुख के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, PM से की माफी की मांग झारखंड: मेदिनीनगर के हुसैनाबाद में ओझा-गुणी की हत्या हजारीबाग के पदमा में दो गुटों में भिड़ंत, आधा दर्जन घायल गुमला में बाइक के साथ नदी में गिरा सरकारी कर्मी, मौत हेमा मालिनी के ड्राइवर को कुछ ही घंटों में मिली जमानत, बच्ची की मौत से हेमा दुखी झारखंड के चाईबासा में रिश्वत लेते दारोगा रंगे हाथ गिरफ्तार झारखंड: हजारीबाग में पिता ने अबोध बेटी को पटक कर मार डाला जमशेदपुर में स्कूल वाहन चालक हड़ताल पर, अभिभावक परेशान
स्पेक्ट्रम नीलामी का काम देखेंगे जे एस दीपक
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:01-05-12 06:39 PM

दूरसंचार विभाग के पूर्व अधिकारी जे एस दीपक को उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार की जाने वाली स्पेक्ट्रम की नीलामी के प्रबंधन का काम सौंपा गया है।

दीपक ने 3जी और ब्रॉडबैंड वायरलेस एक्सेस स्पेक्ट्रम की नीलामी में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। दूरसंचार विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि दीपक को उस समिति का संयोजक नियुक्त किया गया है, जो नई नीलामी के डिजाइन और प्रक्रिया का काम देखेगी।

समझा जाता है कि इस समिति में वाणिज्य विभाग, औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग, आर्थिक मामलों के विभाग, योजना आयोग और दूरसंचार विभाग के प्रतिनिधि शामिल हैं।

दीपक वर्तमान में वाणिज्य विभाग में संयुक्त सचिव हैं। उन्हें 3जी और ब्रॉडबैंड वायरलैस एक्सेस स्पेक्ट्रम आवंटन में इसी तरह का काम सौंपा गया था, जिससे सरकार को वर्ष 2010 में 1.06 लाख करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ।

उच्चतम न्यायालय ने 2जी मामले पर अपने फैसले में फरवरी 2012 में दूरसंचार कंपनियों के 122 2जी लाइसेंस निरस्त कर दिये थे। न्यायालय ने सरकार को 31 अगस्त तक स्पेक्ट्रम की नये सिरे से नीलामी करने को कहा है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड