शुक्रवार, 04 सितम्बर, 2015 | 20:00 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
दूरसंचार नियामक ट्राई का कॉल ड्रॉप के लिए उपभोक्ताओं को मुआवजे का प्रस्ताव।RSS की बैठक में बोले मोदी, बड़े बदलाव के लिए काम कर रहे हैं, जल्द ही नतीजे सामने आएंगेपटना में निषाद समुदाय के प्रदर्शन के दौरान शामिल लोगों और पुलिस के बीच हुई झड़प में 25 घायलदिल्ली में लालू-मुलायम की बैठक खत्म, 5 सीटें मिलने से सपा नाराजदिल्ली: पीएम 6 सितंबर को करेंगे बदरपुर से फरीदाबाद तक चलने वाली मेट्रो का शुभारंभ
वालमार्ट के करोड़ों के लॉबिंग खर्च की जांच हो: कैट
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:10-12-2012 05:23:32 PMLast Updated:10-12-2012 05:29:01 PM
Image Loading

दुनिया की सबसे बड़ी खुदरा क्षेत्र की कंपनी वालमार्ट द्वारा भारत में प्रवेश के लिए लॉबिंग पर 125 करोड़ रुपए खर्च किए जाने की रपट को गंभीर मुद्दा बताते हुए भारतीय खुदरा व्यापारियों के संगठन कन्फैडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने सोमवार को सरकार से इस मामले जांच लोकलेखा समिति (पीएसी) से जांच कराने की मांग की।

उल्लेखनीय है कि वालमार्ट द्वारा अमेरिकी संसद को लाबिंग खर्च के बारे में दिए गए ब्यौरे में यह बात सामने आयी है। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने सोमवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि लॉबिंग पर खर्च की गई राशि का मुद्दा देश की साख और संप्रभुता से जुड़ा हुआ है।

इसलिए हम सरकार से समयबद्ध सीमा में उच्चस्तरीय एंव निष्पक्ष जांच की मांग करते हैं। यह जांच संसद की लोकलेखा समिति से कराई जानी चाहिए। उन्होंने वालमार्ट द्वारा प्रस्तुत विवरण की प्रतियां भी जारी कीं और कहा कि पिछले वर्ष भी वालमार्ट द्वारा भारत में लॉबिंग पर करीब 60 करोड़ रुपए खर्च किये जाने का मामला सामने आया था और कन्फैडरेशन ने सरकार से इसकी जांच की मांग की थी, लेकिर सरकार ने उसपर ध्यान नहीं दिया।

उल्लेखनीय है कि सरकार ने विदेशी कंपनियों को भारत के बहु ब्रांड खुदरा बाजार में अपनी 51 प्रतिशत के साथ संयुक्त कारोबार शुरू करने की अनुमति दे दी है। इसके विरोध में विपक्ष द्वारा संसद में पेश प्रस्ताव पिछले दिनों बहुमत से खारिज कर दिया गया।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingपापा द्रविड़ के नक्शेकदम पर चला बेटा, दिखाया बल्ले का जौहर
द वॉल’ के नाम से मशहूर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ के बेटे ने भी अपने पिता के नक्शेकदम पर चलने का संकेत देते हुए स्कूल टीम को अपनी उम्दा बल्लेबाजी की बदौलत जीत दिला दी।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।