शनिवार, 04 जुलाई, 2015 | 20:50 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    यूपीएससी में बेटियों ने बाजी मारी, दिल्ली की इरा ने टॉप किया, लड़कों में बिहार का सुहर्ष अव्वल इलाहाबाद जंक्शन पर पटरी से उतरी मालगाड़ी, परिचालन ठप मुजफ्फरनगर: सड़क हादसे में दो बच्चों की मौत के बाद जमकर हुआ बवाल झारखंड: पटरी से उतरी मालगाड़ी, दो मरे, चार ट्रेनें रद्द अनूप चावला की हालत बिगड़ी, एयर एंबुलेंस से भेजा मेदांता अनंत विक्रम सिंह गिरफ्तार, अमेठी में भारी पुलिसबल तैनात आतंकी भटकल ने जेल से किया पत्नी को फोन, बताई गुप्त योजना, मचा हडकंप माफिया डॉन दाउद इब्राहिम ने लंदन में रामजेठमलानी को किया था फोन, सरेंडर करने की बात कही थी हेमा मालिनी को मिली अस्पताल से छुटटी, बेटी ईशा के साथ पहुंचीं मुंबई अब विश्वविद्यालयों में कोर्स का दस फीसदी ऑनलाइन पढ़ सकेंगे छात्र
शेयरधारको ने विप्रो को अलग कंपनी बनाने को दी मंजूरी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:31-12-12 05:04 PM
Image Loading

विप्रो ने सोमवार को कहा कि कंपनी के गैर-सूचना प्राद्योगिकी कारोबार को एक अलग कंपनी के तहत लाने की योजना को शेयरधारकों ने मंजूरी दे दी। यह अलग इकाई शेयर बाजार में सूचीबद्ध नहीं होगी।

कंपनी ने बंबई शेयर बाजार को बताया शेयरधारकों ने 28 दिसंबर 2012 की बैठक में विप्रो लिमिटेड, अजीम प्रेमजी कस्टोडियल सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड और विप्रो ट्रेड़वर्क्‍स होल्डिंग लिमिटेड की व्यवस्था को मंजूरी दी।

इस घोषणा के बाद विप्रो का शेयर बंबई स्टाक एक्सचेंज में 1.34 फीसदी चढ़कर 396.50 रुपए पर पहुंच गया। सूचना में कहा गया है कि शेयरधारकों की असाधरण आम बैठक में कुल 393 शेयरधारक उपस्थित थे जिसमें से 18 शेयरधारक प्रवर्तकों और प्रवर्तक समूह से थे। कंपनी के कुल दो लाख 35 हजार से कुछ अधिक शेयरधारक हैं।

देश की तीसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी ने पिछले महीने ही घोषणा की थी कि वह सूचना प्रौद्योगिकी से इतर अपने दूसरे व्यावसाय जैसे उपभोक्ता देखभाल एवं लाइटिंग को लेकर अलग कंपनी बनायेगी। विप्रो लिमिटेड पूरी तरह सूचना प्रौद्योगिकी कारोबार वाली सूचीबद्ध कंपनी बनी रहेगी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingमैकलम ने खेली 158 रन की रिकॉर्ड पारी
न्यूजीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैकलम ने इंग्लिश ट्वेंटी 20 ब्लास्ट प्रतियोगिता में अपनी काउंटी टीम वॉरविकशायर के लिए मात्र 64 गेंदों में नाबाद 158 रन का ताबड़तोड़ स्कोर बनाने के साथ एक अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड