बुधवार, 08 जुलाई, 2015 | 01:25 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    VIDEO: शाहिद और मीरा विवाह के पवित्र बंधन में बंधे, देखिए दिलकश तस्वीरें कुमाऊं में भारी बारिश से 44 मार्ग बंद, केदार पैदल यात्रा भी नहीं हुई शुरू टर्किश एयरलाइंस के विमान को उड़ान की मंजूरी, कोई बम नहीं मिला दिल्ली छोड़कर जा रहा है 'चीकू', क्या आपको भी है खबर व्यापमं मामला: शिवराज पर बढ़ा दबाव, सीबीआई जांच को हुए तैयार गंगा का जलस्तर बढ़ा, बाढ़ का खतरा सदी की सबसे बड़ी फाइट जीतकर भी हार गए मेवेदर, जानिए कैसे बख्शे नहीं जाएंगे थाने में महिला को जलाकर मारने के दोषी: अखिलेश यादव PHOTO: धौनी के लिए प्रशंसक ने बनवाया खास केक, आप भी देखें गूगल अर्थ में जल्द दिखेगा भारत के शहरों का एरियल व्यू
यूनिटेक-टेलीनॉर विवाद का निपटारा पंचनिर्णय से
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:12-04-12 05:51 PM
Image Loading

कंपनी लॉ बोर्ड ने नॉर्वे की दूरसंचार कंपनी टेलीनॉर को झटका देते हुए भारतीय कंपनी यूनिटेक को संयुक्त उद्यम यूनिनॉर की परिसंपत्तियों के नियंत्रण और स्थानांतरण विवाद को सिंगापुर में पंचनिर्णय के जरिये निपटाने की अनुमति दे दी है।

दूरसंचार कंपनी यूनिनॉर में भागीदार इन दोनों कंपनियों के बीच संयुक्त उद्यम की परिसंपत्ति के प्रबंधन, नियंत्रण और हस्तांतरण को लेकर विवाद छिड़ा हुआ है। यूनिटेक इस मामले को पंचनिर्णय में ले जाना चाह रही थी, जबकि टेलीनॉर को इस मांग पर आपत्ति थी। कंपनी लॉ बोर्ड के चेयरमैन डी आर देशमुख ने कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा संयुक्त उद्यम का लाइसेंस रद्द किए जाने के बाद टेलीनॉर अपनी भागीदार यूनिटेक को बाहर करने के लिए काफी उत्तेजित हो गई थी।

उन्होंने व्यवस्था दी कि सिर्फ पंच ही इस बात का निर्णय कर सकते हैं कि इस धोखाधड़ी की वजह से शेयर अभिदान कानून या शेयरधारिता करार खराब हुआ है या नहीं। यूनिटेक और टेलीनॉर दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ सीएलबी में याचिका दायर की थी। यूनिनॉर में टेलीनॉर की हिस्सेदारी 67.25 फीसदी हिस्सेदारी है। उच्चतम न्यायालय ने जिन दूरसंचार कंपनियों के लाइसेंस रदद किए हैं उनमें इन दोनों के संयुक्त उद्यम यूनिनॉर के लाइसेंस भी शामिल हैं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड