शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 11:01 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    अमेरिकी स्कूल में गोलीबारी में दो की मौत, चार घायल पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन हुदहुद से आई टी क्षेत्र को भारी क्षति हुई है :रेड्डी  मिस्र में आतंकी हमले में 31 सैनिकों की मौत गूगल के अधिकारी ने हवा में गोताखोरी का बनाया विश्व रिकॉर्ड  चीन सीमा पर 54 चौकियां बनाएगा भारत, 175 करोड़ के पैकेज की घोषणा  बर्धवान के बम थे बांग्लादेश के लिए: एनआईए नरेंद्र मोदी की चाय पार्टी में नहीं शामिल होंगे उद्धव ठाकरे भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें
यूनिटेक-टेलीनॉर विवाद का निपटारा पंचनिर्णय से
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:12-04-12 05:51 PM
Image Loading

कंपनी लॉ बोर्ड ने नॉर्वे की दूरसंचार कंपनी टेलीनॉर को झटका देते हुए भारतीय कंपनी यूनिटेक को संयुक्त उद्यम यूनिनॉर की परिसंपत्तियों के नियंत्रण और स्थानांतरण विवाद को सिंगापुर में पंचनिर्णय के जरिये निपटाने की अनुमति दे दी है।

दूरसंचार कंपनी यूनिनॉर में भागीदार इन दोनों कंपनियों के बीच संयुक्त उद्यम की परिसंपत्ति के प्रबंधन, नियंत्रण और हस्तांतरण को लेकर विवाद छिड़ा हुआ है। यूनिटेक इस मामले को पंचनिर्णय में ले जाना चाह रही थी, जबकि टेलीनॉर को इस मांग पर आपत्ति थी। कंपनी लॉ बोर्ड के चेयरमैन डी आर देशमुख ने कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा संयुक्त उद्यम का लाइसेंस रद्द किए जाने के बाद टेलीनॉर अपनी भागीदार यूनिटेक को बाहर करने के लिए काफी उत्तेजित हो गई थी।

उन्होंने व्यवस्था दी कि सिर्फ पंच ही इस बात का निर्णय कर सकते हैं कि इस धोखाधड़ी की वजह से शेयर अभिदान कानून या शेयरधारिता करार खराब हुआ है या नहीं। यूनिटेक और टेलीनॉर दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ सीएलबी में याचिका दायर की थी। यूनिनॉर में टेलीनॉर की हिस्सेदारी 67.25 फीसदी हिस्सेदारी है। उच्चतम न्यायालय ने जिन दूरसंचार कंपनियों के लाइसेंस रदद किए हैं उनमें इन दोनों के संयुक्त उद्यम यूनिनॉर के लाइसेंस भी शामिल हैं।
 
 
 
टिप्पणियाँ