बुधवार, 27 मई, 2015 | 23:25 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
सहारा रियल्टी कंपनी का इरादा संदेहजनक: सर्वोच्च न्यायालय
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:03-12-12 08:36 PM
Image Loading

सर्वोच्च न्यायालय ने सोमवार को सहारा समूह की रियल्टी कंपनी को फटकार लगाई और कहा कि निवेशकों का पैसे लौटाने में कंपनी का इरादा संदेहास्पद है। कंपनी ने वैकल्पिक रूप से पूरी तरह परिवर्तनीय डिबेंचर योजना के तहत निवेशकों से पैसे जुटाए थे।

मुख्य न्यायाधीश अल्तमस कबीर, न्यायमूर्ति एस.एस. निज्जर और न्यायमूर्ति जे. चेलामेस्वर की पीठ ने कहा कि (निवेशकों के पैसे) लौटाने का आपका इरादा नहीं है। आपका इरादा संदेहास्पद है। सहारा इंडिया रियल एस्टेट कारपोरेशन और सहारा हाउसिंग इनवेस्टमेंट कारपोरेशन ने शेयर अपीलीय न्यायाधिकरण द्वारा जारी एक आदेश को अदालत में चुनौती दी है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingधौनी से कप्तानी के गुर सीखे : होल्डर
वेस्टइंडीज की वनडे टीम के युवा कप्तान जैसन होल्डर को लगता है कि चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ बिताये गये दिनों में उन्हें किसी और से नहीं बल्कि भारत के सीमित ओवरों की टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी से कप्तानी के गुर सीखने को मिले थे।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड