शनिवार, 01 अगस्त, 2015 | 21:41 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट के डिप्टी रजिस्ट्रार अनूप सुरेंद्रनाथ ने दिया इस्तीफा, याकूब मेमन को फांसी दिए जाने के विरोध में दिया इस्तीफा
न्यूनतम और अधिकतम हवाई किराए की सीमा तय करेगी सरकार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:28-12-2012 09:34:14 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

छुटिटयों के व्यस्त समय के दौरान विमान किराये आसमान छू जाते हैं। ऐसे में नागरिक उड्डयन मंत्रालय किसी एक निश्चित अवधि के लिए न्यूनतम और अधिकतम किराया दरें तय करने के प्रस्ताव पर काम कर रहा है। किसी भी एयरलाइंस को इस सीमा को लांघने की अनुमति नहीं होगी।

मंत्रालय जहां अधिकतम और न्यूनतम मूल्य बैंड पर काम कर रहा है, वहीं उद्योग विशेषज्ञों का मानना है कि इसका बेहतर हल यह होगा कि विमान किराए एयरलाइंस द्वारा निकाले गए प्रति किलोमीटर राजस्व के हिसाब से तय किए जाएं।

फिलहाल दिल्ली और कोच्चि के बीच न्यूनतम रिटर्न टिकट का मूल्य 22,755 रुपए है, जबकि दिल्ली-गोवा मार्ग पर यह 22,527 रुपए है। दिल्ली-मुंबई के लिए यह 15,000 रुपए और दिल्ली-कोलकाता के लिए 16,000 रुपए है।

नागरिक उड्डयन मंत्री अजित सिंह ने हवाई किरायों में भारी वृद्धि पर चिंता जताई है। खासकर व्यस्त समय के दौरान। ऐसे यात्री जो अंतिम समय में टिकट बुक कराते हैं उन्हें भारी राशि चुकानी पड़ती है।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि सरकार किराया दरें तय नहीं करेगी। लेकिन वह एक ऐसे फार्मूला पर काम कर रही है जिसमें एयरलाइंस के साथ विचार-विमर्श के बाद न्यूनतम और अधिकतम किराया दरें तय की जा सकें। सूत्रों ने कहा कि किराया दरें इस सीमा के पार नहीं जा सकेंगी।

एयरोनाटिकल सोसायटी आफ इंडिया के देबाशीष साहा ने न्यूनतम और अधिकतम किराया तय करने का समर्थन करते हुए कहा कि न्यूनतम और अधिकतम किराया तय करने के पीछे कोई तर्क होना चाहिए। इसकी गणितीय गणना होनी चाहिए। किराया दरें प्रति किलोमीटर औसत सीटों के हिसाब से तय होनी चाहिए।

उन्होंने किराया दरों में अधिक पारदर्शिता की भी वकालत की। उन्होंने कहा कि यात्रियों को पता होना चाहिए कि उन्हें कितना किराया देना है।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingआक्रामक शैली बरकरार रखें कोहली: द्रविड़
राहुल द्रविड़ को बतौर टेस्ट कप्तान श्रीलंका में पहली पूर्ण सीरीज खेलने जा रहे विराट कोहली के कामयाब रहने का यकीन है और उन्होंने कहा कि कोहली को अपनी आक्रामक शैली नहीं छोड़नी चाहिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?