शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 21:48 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
कोयला खानों को पर्यावरण मंजूरी की जांच होगी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:21-12-2012 05:14:07 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

पर्यावरण एवं वन मंत्रालय ने कोयला मंत्रालय को आश्वस्त किया है कि इस मामले की जांच करेगा कि जिन कोयला खानों को नीलामी के लिये पेश किया जाना है उन्हें पहले से ही सैद्धांतिक रूप से पर्यावरण और वन संबंधी मंजूरी दी जा सकती है अथवा नहीं।

कोयला मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने शुक्रवार को इस संबंध में यहां पर्यावरण मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात की और नीलामी के लिए रखी जाने वाली खानों से जुड़े मामलों पर लंबी चर्चा की।

इस घटनाक्रम से जुड़े सूत्रों ने बताया बैठक के दौरान इस मामले पर चर्चा हुई कि नीलामी के लिए पेश होने वाली कोयला खानों को क्या सैद्धांतिक रूप से वन एवं पर्यावरण मंजूरी दी जा सकती है। पर्यावरण मंत्रालय ने कोयला मंत्रालय को आश्वस्त किया कि वह इस मामले की जांच करेगा।

कोयला मंत्रालय ने इससे पहले उम्मीद जाहिर की थी कि निजी कोयला खानों की नीलामी के संबंध में पर्यावरण और बिजली जैसे मंत्रालयों के साथ मतभेद जल्दी दूर हो जाएंगे।

कोयला सचिव एस के श्रीवास्तव ने कहा था कोयला खानों को सैद्धांतिक मंजूरी से जुड़े जिन मामलों में सहमति नहीं बनी है उनमें न्यूनतम मूल्य और बिजली जैसे क्षेत्रों को रियायती मूल्य पर खानें देने का मामला शामिल है।

 

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।