शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 19:30 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    पार्टी में सभी तबकों को शामिल किया जाना चाहिए: मोदी  मथुरा में भाजपा युवा मोर्चा का पुलिस पर पथराव, दर्जनों जख्मी मुख्यमंत्री कार्यालय में बदलाव करना चाहते हैं फड़नवीस  चीन ने पूरा किया चांद से वापसी का पहला मिशन  आज चार राज्य मना रहे हैं स्थापना दिवस  जम्मू-कश्मीर में बदले जा सकते हैं मतदान केंद्र 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' का वीडियो यूट्यूब पर हिट दिग्विजय सिंह की सलाह, कांग्रेस की कमान अपने हाथ में लें राहुल गांधी 'दिल्ली को फिर केंद्र शासित बनाने की फिराक में भाजपा' जनता सब देख रही है, बीजेपी हल्के में न लेः उद्धव ठाकरे
बैंकों ने कहा किंगफिशर के संकेत साकारात्मक नहीं
मुंबई, एजेंसी First Published:30-11-12 08:43 PM
Image Loading

किंगफिशर को कर्ज देने वाले बैंकों ने कहा कि ऋण में डूबी विमानन कंपनी में एक अरब डॉलर की ताजा शेयरपूंजी डालने की समयसीमा समाप्त हो गई, लेकिन उन्हें अब तक इस बारे में कुछ कंपनी की ओर से सकारात्मक बात सुनने को नहीं मिली है।

बहरहाल एक प्रमुख बैंक के अधिकारी ने बैंकों तथा विमानन कंपनी के बीच अगले पखवाड़े होने वाली बैठक में कुछ प्रगति होने को लेकर उम्मीद जतायी। भारतीय स्टेट बैंक के उप प्रबंध निदेशक (मझोले कारपोरेट समूह के प्रभारी) श्यामल आचार्य ने कहा कि हमने अब तक नई इक्विटी के बारे में किंगफिशर से कुछ नहीं सुना है।

मुझे उम्मीद है कि बैंकों के समूह तथा एयरलाइन के बीच अगले पखवाड़े बैठक होगी।
 उन्होंने कहा कि विजय माल्या की अगुवाई वाली एयरलाइन के साथ बैठक को लेकर कोई नई तारीख के बारे में अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है। 17 बैंकों के समूह ने कंपनी को 7,000 करोड़ रुपए का कर्ज दिया हुआ है। अकेले एसबीआई ने कंपनी को 1,200 करोड़ रुपए का कर्ज दे रखा है।

स्टेट बैंक के चेयरमैन प्रतीप चौधरी ने इस महीने की शुरूआत में यूबी समूह की कंपनी किंगफिशर से कम-से-कम एक अरब डॉलर (करीब 5,400 करोड़ रुपए) नवंबर के अंत तक लाने को कहा था।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ