मंगलवार, 30 जून, 2015 | 13:51 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    ट्विटर पर जॉन ने खोली 'वेलकम बैक' की रिलीज़ डेट, आप भी जानिए बांग्लादेशी अखबार ने उड़ाया टीम इंडिया का मजाक, भारतीय क्रिकेटरों को दिखाया आधा गंजा गांगुली ने टीम इंडिया में हरभजन की वापसी का किया स्वागत रोहित समय के पाबंद हैं, उनके साथ काम करना मुश्किल: शाहरूख खान तेंदुलकर ने अजिंक्य रहाणे को दीं शुभकामनाएं मुजफ्फरनगर के भुम्मा में धार्मिक स्थल में विस्फोट, एक घायल  यूपी के मऊ में सिलेंडर रिसाव से लगी आग, चार की मौत, चार झुलसे व्यापम घोटाला: मंत्री से लेकर संतरी तक, सबने दिया घोटाले को अंजाम महाराष्ट्र: पंकजा के बाद विनोद तावड़े के खिलाफ ठेके में अनियमितता के आरोप जापान: चलती हुई बुलेट ट्रेन में एक शख्स ने खुद को किया आग के हवाले
विफल दूरसंचार सेवा कंपनियों को नोटिस मार्च तक
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:18-11-11 05:39 PM
Image Loading

दूरसंचार मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि लाइसेंस की शर्तों के तहत समय से सेवा देने में विफल रही दूरसंचार सेवा कंपनियों के 35 से ज्यादा लाईसेंस रदद करने के नोटिस मार्च तक जारी कर दिए जाएंगे। मंत्रालय तय समय में सेवा शुरू करने में विफल लाइसेंस धारकों के खिलाफ कार्रवाई के बारे में कानूनी राय ले रही है।
   
दूरसंचार सचिव आर चंद्रशेखर ने भारतीय उद्योग संघ (सीआईआई) के एक समारोह में संवादददाताओं से कहा सेवाएं शुरू करने की विफलता के मददेनजर 35 लाईसेंस पर नोटिस जारी करने की प्रक्रिया मार्च तक पूरी हो जाएगी। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकार (ट्राई) ने दूरसंचार विभाग से ऐसे 65 नए लाईसेंस रदद करने की सिफारिश की है।
 
नई दूरसंचार नीति (एनटीपी) के बारे में चंद्रशेखर ने कहा कि नीति जनवरी तक जारी की जा सकती है। एनटीपी के तहत कंपनियों को एक दूसरे के स्पेक्ट्रम का उपयोग करने की छूट होगी। अक्टूबर में जारी नीति के मसौदे के नयी नीति में विलय और अधिग्रहण के मानदंड और उदार बनाए जाएंगे। इससे कंपनियों को गलाकाट प्रतिस्पर्धा से कुछ राहत मिल सकती है क्यों कि इस समय किसी किसी दूरसंचार लाइसेंस में 12-13 कंपनियां सेवाएं दे रही हैं। दूरसंचार मंत्रालय इसके अलावा बिना पात्रता पूरी किए लाईसेंस प्राप्त करने वाली कंपनियों के खिलाफ भी कार्रवाई करने की प्रक्रिया में है।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड