शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 17:36 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
विद्या प्रकाश ठाकुर ने भी राज्यमंत्री पद की शपथ लीदिलीप कांबले ने ली राज्यमंत्री पद की शपथविष्णु सावरा ने ली मंत्री पद की शपथपंकजा गोपीनाथ मुंडे ने ली मंत्री पद की शपथचंद्रकांत पाटिल ने ली मंत्री पद की शपथप्रकाश मंसूभाई मेहता ने ली मंत्री पद की शपथविनोद तावड़े ने मंत्री पद की शपथ लीसुधीर मुनघंटीवार ने मंत्री पद की शपथ लीएकनाथ खड़से ने मंत्री पद की शपथ लीदेवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
मिडकैप, स्मॉलकैप शेयरों में सेंसेक्स से अधिक तेजी (साप्ताहिक समीक्षा)
मुम्बई, एजेंसी First Published:05-01-13 10:13 AM
Image Loading

देश के शेयर बाजारों के प्रमुख सूचकांकों में गत सप्ताह डेढ़ फीसदी से अधिक तेजी दर्ज की गई, लेकिन बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में इस अवधि में तीन फीसदी से अधिक तेजी रही।

बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स गत सप्ताह 1.74 फीसदी या 339.24 अंकों की तेजी के साथ शुक्रवार को 19,784.08 पर बंद हुआ। इसी अवधि में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 1.82 फीसदी या 107.8 अंकों की तेजी के साथ 6,016.15 पर बंद हुआ।

आलोच्य अवधि में बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में तीन फीसदी से अधिक तेजी रही। मिडकैप 3.12 फीसदी या 221.18 अंकों की तेजी के साथ 7,314.12 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 3.72 फीसदी या 273.40 अंकों की तेजी के साथ 7,615.60 पर बंद हुआ।

गत सप्ताह सेंसेक्स के 30 में से 26 शेयरों में तेजी रही। ओएनजीसी (7.11 फीसदी), भेल (6.57 फीसदी), गेल (5.40 फीसदी), एसबीआई (4.50 फीसदी) और आईसीआईसीआई बैंक (3.50 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। चार शेयरों आईटीसी (2.33 फीसदी), हीरो मोटोकॉर्प (०0.48 फीसदी), सन फार्मा (0.48 फीसदी) और सिप्ला (0.10 फीसदी) में गिरावट रही।

आलोच्य अवधि में बीएसई के 13 में से 12 सेक्टरों में तेजी रही। रियल्टी (5.19 फीसदी), सार्वजनिक कम्पनियां (4.20 फीसदी), तेल एवं गैस (4.06 फीसदी), उपभोक्ता टिकाऊ वस्तु (3.48 फीसदी) और बिजली (2.57 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। बीएसई के सिर्फ एक सेक्टर तेज खपत वाली उपभोक्ता वस्तु (0.81 फीसदी) में गिरावट रही।

गत सप्ताह के प्रमुख आर्थिक घटनाक्रमों में सोमवार को किंगफिशर एयरलाइंस के उड्डयन लाइसेंस की वैधता अवधि सोमवार को खत्म हो गई। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने कम्पनी से यह जानकारी मांगी थी कि उड़ानों का संचालन फिर से शुरू करने की योजना के लिए धन की व्यवस्था कैसे होगी। जिसे समय सीमा के अंदर कम्पनी दे पाने में नाकाम रही। लाइसेंस के नियमित नवीनीकरण की आखिरी तिथि 31 दिसम्बर थी।

सोमवार को ही पर्यटन मंत्रालय ने कहा कि देश में आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या 2012 में नवम्बर महीने तक पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले लगभग छह फीसदी अधिक रही। आलोच्य अवधि में देश में 58.99 लाख विदेशी पर्यटकों का आगमन हुआ, जबकि पिछले साल की समान अवधि में देश में 55.72 लाख विदेशी पर्यटकों का आगमन हुआ था।

सोमवार को ही जारी एक आंकड़े के मुताबिक भारतीय शेयर बाजार 2012 में दुनिया में सर्वोत्तम प्रदर्शन करने वाले शेयर बाजारों में तीसरे स्थान पर रहे। इस वर्ष विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शेयर बाजारों में 24 अरब डॉलर का निवेश किया। शेयर बाजारों का एक प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स एक साल पहले के स्तर से 25 फीसदी ऊपर जा पहुंचा।

50 शेयरों वाले थाईलैंड सेट सूचकांक और 30 शेयरों वाले जर्मनी के डाउशेर एक्टीन सूचकांक के बाद बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों वाले सूचकांक सेंसेक्स का प्रदर्शन तीसरे स्थान पर रहा। साल के आखिरी दिन सोमवार को सेंसेक्स 19,426.71 पर बंद हुआ, जो 2011 के आखिरी कारोबारी सत्र के बंद स्तर 15,454.92 से 25.70 फीसदी या 3,971.79 अंक ऊपर है।

आलोच्य वर्ष में सेंसंक्स में तेजी में रहने वाले शेयरों में टाटा मोटर (75 फीसदी), आईसीआईसीआई बैंक (66 फीसदी), मारुति सुजुकी (63 फीसदी) और एलएंडटी (61 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। सेंसेक्स में सर्वाधिक गिरावट वाले शेयरों में रहे इंफोसिस (16.5 फीसदी), गेल इंडिया (8 फीसदी), भारती एयरटेल (7 फीसदी) और भेल (4.5 फीसदी)। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी इस साल 27 फीसदी उछल कर साल के आखिरी कारोबारी दिन सोमवार को 5,905.1० पर बंद हुआ।

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने सोमवार को एक बयान में कहा कि देश के प्रमुख आठ उद्योगों की विकास दर नवम्बर में 1.8 फीसदी रही, जो पिछले साल की समान अवधि में 7.8 फीसदी थी।

आठ प्रमुख उद्योगों में शामिल हैं : कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, पेट्रोलियम रिफायनरी उत्पाद, बिजली, कोयला, ऊर्वरक, इस्पात, सीमेंट। मौजूदा कारोबारी साल में अप्रैल से नवम्बर की अवधि में प्रमुख उद्योगों का औसत विकास 3.5 फीसदी की दर से हुआ, जो 2०11-12 की समान अवधि में 4.8 फीसदी की दर से हुआ था। आठ प्रमुख उद्योगों का औद्योगिक उत्पादन सूचकांक में 37.90 फीसदी योगदान होता है।

मंगलवार एक जनवरी से नकद सब्सिडी भुगतान योजना शुरू देश के कई जिलों में शुरू हो गई। इसके तहत लाभार्थियों को सीधे उसके बैंक खाते में सब्सिडी का भुगतान किया जाएगा। नकद सब्सिडी भुगतान योजना के दायरे में कुल 26 योजनाओं को शामिल किया जाना है। वित्त मंत्री पी. चिवदम्बरम ने एक बयान में हालांकि कहा कि सरकार का भोजन, ऊर्वरक और पेट्रोलियम उत्पाद के लिए नकद सब्सिडी देने का कोई इरादा अभी नहीं है।

भारतीय समय के मुताबिक मंगलवार और अमेरिकी समय के मुताबिक सोमवार को अमेरिकी सीनेट ने एक अहम समझौते पर मुहर लगाकर अमेरिका को फिस्कल क्लिफ के नाम से बताए जाने वाले एक बड़े आर्थिक संकट से बचा लिया। इसके बाद अमेरिकी कांग्रेस के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में भी इसे पारित कर दिया गया और (भारतीय समय के मुताबिक) गुरुवार को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का मशीनी हस्ताक्षर भी इस वित्त विधेयक पर हो गया।

समझौता नहीं होने पर एक जनवरी से स्वत: कर में वृद्धि और सरकारी खर्च में कटौती की एक व्यवस्था लागू हो जाती, जिससे दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था अमेरिका दुबारा मंदी का शिकार हो सकता था और दुनिया के दूसरे हिस्सों पर इसका असर पड़े बिना नहीं रह सकता था।

गुरुवार को केयूबी राव समिति ने एक अहम सिफारिश में कहा कि सोना गिरवी रखकर कर्ज देने वाली कम्पनियों से अर्थव्यवस्था को कोई खतरा नहीं है। समिति ने साथ ही यह भी सिफारिश दी कि इन कम्पनियों को गिरवी के रूप में रखे गए सोने के मूल्य का 75 फीसदी हिस्सा कर्ज देने की अनुमति दी जाए, जो अभी 60 फीसदी है। बाजार ने इस सुझाव का स्वागत किया और इस दिन दो प्रमुख कम्पनियों-मुथूट (10.34 फीसदी) और मनाप्पुरम (19.97 फीसदी)-के शेयर में भारती उछाल देखा गया।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के डिप्टी गवर्नर सुबीर गोकर्ण पद से सोमवार को सेवानिवृत्त हो गए। गोकर्ण का तीन साल का कार्यकाल 24 नवम्बर को समाप्त होना था, लेकिन 31 दिसम्बर तक के लिए बढ़ा दिया गया था।

बुधवार को दी गई सूचना के मुताबिक अर्थशास्त्री उर्जित पटेल रिजर्व बैंक में नए डिप्टी गवर्नर होंगे। यह जानकारी वित्तीय सेवा सचिव डी.के. मित्तल ने दी। अमेरिका के ब्रूकिंग्स संस्थान के वरिष्ठ फेलो पटेल आरबीआई में मौद्रिक नीति विभाग सम्भालेंगे। पटेल बोस्टन कंसल्टिंग समूह में भी सलाहकार हैं।

 
 
 
टिप्पणियाँ