सोमवार, 06 जुलाई, 2015 | 10:35 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आयुध फैक्टरियों में 67 हजार पदों को भरने की प्रक्रिया जल्द होगी शुरू दिल्ली: सवा सौ साल पुराना जर्जर पुल अब बनेगा ऐतिहासिक विरासत खुशखबरी: वेस्ट यूपी में 500 जगहों को वाईफाई करेगा बीएसएनएल यूपी: चलती गाड़ी में छात्रा के साथ रेप के बाद रेलवे स्टेशन पर फेंका पहले दिया संवेदनहीन बयान, अब पत्रकार अक्षय के घर जाएंगे कैलाश विजयवर्गीय पत्रकार अक्षय के विसरा जांच एम्स में होगी, परिवार की मांग मंजूर अक्षय की मौत स्वाभाविक नहीं, व्यापमं गिरोह ने की हत्या: भूरिया पाकिस्तान ने किया संघर्षविराम का उल्लंघन, बीएसएफ जवान शहीद लालू की हैसियत महुआ रैली में उजागर, नीतीश को पक्का मारेंगे लंगड़ीः पासवान एयरइंडिया के यात्री ने की खाने में मक्खी की शिकायत
भारत में बढ़ा निवेश में कमी का चलन
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:30-03-12 02:48 PM
Image Loading

भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबित पिछले कुछ वर्षों में देश में निवेश में कमी का चलन देखा गया है।
   
लोकसभा में अदगुरू एच विश्वनाथ और शिवराम गौडा के प्रश्न के लिखित उत्तर में वित्त राज्य मंत्री नमो नारायण मीणा ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा गैर सरकारी, गैर वित्तीय सरकारी लिमिटेड कंपनियों के आंकड़े के अनुसार 2008-09 की अपेक्षा 2009-10 में निवेश में 12.7 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई जबकि बाद में 2010-11 में यह 4.7 प्रतिशत बढ़ा।
   
मंत्री ने कहा कि कंपनियों के निवेशों में कमी, ब्याज भुगतान, कच्चे माल की लागत में बढ़ोत्तरी और मांग में कमी के कारण कारपोरेट मार्जिन में कमी आ रही है। सरकार ने उद्योग और आधारभूत संरचना क्षेत्र को बढ़ावा देने और निवेश के उद्देश्य से नीतिगत उपाए किये हैं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड