मंगलवार, 01 सितम्बर, 2015 | 07:21 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
खुदरा बाजार की महंगाई से चिंतित रिजर्व बैंक
मुंबई, एजेंसी First Published:18-12-2012 03:21:24 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

रिजर्व बैंक ने थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति में आई नरमी पर तो संतोष जताया, लेकिन खुदरा बाजार की मुद्रास्फीति को लेकर उसकी चिंता साफ झलकती है।

केन्द्रीय बैंक ने कहा है कि थोक मूल्य सूचकांक के उलट खुदरा मूल्यों पर आधारित मुद्रास्फीति लगातार उच्च स्तर पर बनी हुई है। सब्जियों, अनाज, दलहन, तेल और वसा आदि वस्तुओं के दाम बढ़ने से खाद्य वस्तुओं के वर्ग में मुद्रास्फीति का दबाव साफ झलकता है।

रिजर्व बैंक की मंगलवार को जारी मध्य तिमाही समीक्षा में मुद्रास्फीति के बारे में कोई नया अनुमान तो घोषित नहीं किया गया, लेकिन खुदरा मुद्रास्फीति के उंचा बने रहने पर बैंक ने जरुर कुछ चिंता दिखाई है। बैंक ने कहा है कि इस सूचकांक में गैरखाद्य वर्ग में भी मुद्रास्फीतिक दबाव झलकता है।

नवंबर में थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति घटकर 7.24 प्रतिशत रह गई, लेकिन खुदरा मूल्य सूचकांक पर अधारित मुद्रास्फीति बढ़कर 9.90 प्रतिशत हो गई। थोक में जहां खनिज, ईंधन और सब्जियों के दाम घटने से नरमी आई, वहीं इसमें प्रोटीन आधारित वसतुओं जैसे अंडा, मछली और मीट के दाम मजबूती में रहे।

समीक्षा में कहा गया है कि मौसम के हिसाब से तालमेल बिठाते हुए तीन महीने का औसत वार्षिक सूचकांक भी थोक मुद्रास्फीति दबाव में नरमी का संकेत देता है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingललित मोदी माल्टा में, हो सकती है गिरफ्तारी
पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी के माल्टा में होने की खबर है। एक समाचार चैनल के मुताबिक उन्हें जल्द गिरफ्तार किया जा सकता है। ललित के खिलाफ इंटरपोल ने रेड कार्नर नोटिस जारी कर रखा है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

कहां रखें पैसे
पत्नी: मैं जहां भी पैसा रखती हूं हमारा बेटा वहां से चुरा लेता है। मेरी समझ नहीं आ रहा कि पैसे कहां रखूं?
पति: पैसे उसकी किताबों में रख दो, वो उन्हें कभी नहीं छूता।