रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 04:19 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
आरबीआई बैंक के सेवा शुल्कों में हस्तक्षेप नहीं करेगा
हैदराबाद, एजेंसी First Published:26-04-12 10:27 PM

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) बैंकों पर विभिन्न सेवाओं के लिए शुल्क लेने पर रोक नहीं लगाएगा और न ही न्यूनतम जमा पर जोर देगा। यह ग्राहकों की पसंद है कि वह कहां खाता खोले। यह बात बैंक के डप्टी गवर्नर के.सी. चक्रवर्ती ने गुरुवार को कही।

वित्तीय समावेशीकरण पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन में उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ''यह कारोबार है। हम हस्तक्षेप नहीं कर सकते। हम कारोबार पर नियंत्रण लगाने के लिए नहीं हैं। हम सिर्फ अधिक प्रतियोगिता ला सकते हैं।''

उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक सिर्फ बैंकों से इतना कहता है कि वह जो भी करें उसमें पारदर्शिता हो और यदि कोई शुल्क गैर वाजिब हो तो उसे खत्म कर दें।

उन्होंने कहा, ''ग्राहकों को बैंक की न्यूनतम शर्ते पता होना चाहिए।''

इससे पहले अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि बैंक उन सेवाओं के लिए भी शुल्क लेते हैं, जो वे दे नहीं रहे होते हैं। वे पहले भुगतान पर दंड लगाते हैं और अपने पुराने ग्राहकों के लिए ब्याज दर कम नहीं करते हैं। उन्होंने ऐसे चलन को अवैध और अनैतिक कहा।

उन्होंने कहा कि बैंक खाता रखना किसी भी व्यक्ति का मौलिक अधिकार है और कोई भी बैंक खाता खोलने से इंकार नहीं कर सकता है।
 
 
 
टिप्पणियाँ