सोमवार, 03 अगस्त, 2015 | 18:39 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
मैं शाम 6.30 बजे देश के सामने एक महत्वपूर्ण घोषणा करूंगाः नरेंद्र मोदी।भूमि अधिग्रहण बिल पर झुकी सरकार, किसानों की सहमति का प्रावधान बना रहेगा।जेबीटी घोटाला: सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला और अन्य की याचिका खारिज की, दोषसिद्धि और 10 साल के कारावास की सजा को चुनौती देते हुई दायर की थी याचिका।
आरबीआई बैंक के सेवा शुल्कों में हस्तक्षेप नहीं करेगा
हैदराबाद, एजेंसी First Published:26-04-2012 10:27:23 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) बैंकों पर विभिन्न सेवाओं के लिए शुल्क लेने पर रोक नहीं लगाएगा और न ही न्यूनतम जमा पर जोर देगा। यह ग्राहकों की पसंद है कि वह कहां खाता खोले। यह बात बैंक के डप्टी गवर्नर के.सी. चक्रवर्ती ने गुरुवार को कही।

वित्तीय समावेशीकरण पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन में उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ''यह कारोबार है। हम हस्तक्षेप नहीं कर सकते। हम कारोबार पर नियंत्रण लगाने के लिए नहीं हैं। हम सिर्फ अधिक प्रतियोगिता ला सकते हैं।''

उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक सिर्फ बैंकों से इतना कहता है कि वह जो भी करें उसमें पारदर्शिता हो और यदि कोई शुल्क गैर वाजिब हो तो उसे खत्म कर दें।

उन्होंने कहा, ''ग्राहकों को बैंक की न्यूनतम शर्ते पता होना चाहिए।''

इससे पहले अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि बैंक उन सेवाओं के लिए भी शुल्क लेते हैं, जो वे दे नहीं रहे होते हैं। वे पहले भुगतान पर दंड लगाते हैं और अपने पुराने ग्राहकों के लिए ब्याज दर कम नहीं करते हैं। उन्होंने ऐसे चलन को अवैध और अनैतिक कहा।

उन्होंने कहा कि बैंक खाता रखना किसी भी व्यक्ति का मौलिक अधिकार है और कोई भी बैंक खाता खोलने से इंकार नहीं कर सकता है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingश्रीलंका में जीत के लिए ये है कोहली का मास्टर प्लान
टेस्ट कप्तान के तौर पर अपनी पहली संपूर्ण तीन मैचों की सीरीज के लिये श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम का नेतृत्व कर रहे विराट कोहली ने कहा है कि उनकी योजना श्रीलंका में पांच गेंदबाजों को उतारने की रहेगी।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?