गुरुवार, 28 मई, 2015 | 13:29 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    रायबरेली पहुंची सोनिया गांधी व्यापम घोटाला: अब तक जांच से जुड़े 40 लोगों की मौत त्रिपुरा सरकार ने राज्य में 18 सालों से लगा अफस्पा हटाया गुर्जर आंदोलन: जयपुर पहुंचे बैंसला, बोले आरक्षण लिए बिना नहीं हटेंगे  कुछ इस तरह हुई फीफा के 14 अधिकारियों की गिरफ्तारी पतंजलि फूड पार्क संघर्ष में एक मरा, रामदेव के भाई गिरफ्तार मूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच  फैशन के फेर में टेढ़ी हो गई लड़कियों की कमर  बेटे के लिए दूल्हा तलाश रही मां को मिले 150 रिश्ते बिहार में पढ़ने के लिए घर से भागीं दो लड़कियां
गेंहू का रकबा रबी सत्र में तीन प्रतिशत घटा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:30-11-12 08:44 PM
Image Loading

रबी सत्र में अभी तक गेहूं बुवाई का रकबा तीन प्रतिशत घटकर 157.89 लाख हेक्टेयर रह गया है। कृषि मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है।

वर्ष भर पहले की समान अवधि में प्रमुख रबी फसल (जाड़े में बोई जाने वाली फसल) गेहूं का रकबा 162.5 लाख हेक्टेयर था। गेहूं के दुनिया में दूसरे सबसे बड़े उत्पादक देश भारत ने 2011-12 के फसल वर्ष (जुलाई से जून) में रिकॉर्ड 9.39 करोड़ टन गेहूं का उत्पादन किया था।

एक सरकारी बयान में कहा गया है कि विभिन्न राज्यों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार देश के विभिन्न भागों में रबी फसल की बुवाई प्रगति पर है। अभी तक चावल खेती का रकबा भी 19 प्रतिशत घटकर 0.85 लाख हेक्टेयर रह गया है जो पिछले रबी सत्र की समान अवधि में 1.05 लाख हेक्टेयर था।

मोटे अनाज के खेती का रकबा घटकर 46.15 लाख हेक्टेयर रह गया जो वर्ष भर पहले की समान अवधि में 44.83 लाख हेक्टेयर था। इसी प्रकार दलहन का रकबा भी चालू रबी सत्र में अभी तक 6.45 प्रतिशत घटकर 102.49 लाख हेक्टेयर रह गया है जो वर्ष भर पहले की समान अवधि में 109.56 लाख हेक्टेयर था।

हालांकि तिलहन खेती का रकबा पहले के 66.76 लाख हेक्टेयर के मुकाबले थोड़ा अधिक यानी 66.84 लाख हेक्टेयर है। रबी सत्र में अभी तक कुल खेती का रकबा करीब 10.48 लाख हेक्टेयर कम यानी 374.22 लाख हेक्टेयर है।

भारत ने 2011-12 के फसल वर्ष में 25 करोड़ 74.4 लाख टन खाद्यान्न का रिकॉर्ड उत्पादन किया था। देश के कुछ भागों में खराब मानसून के कारण चालू फसल वर्ष 2012-13 में उत्पादन घटकर 25 करोड़ टन रह जाने की उम्मीद है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड