गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 19:18 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
प्रख्यात साहित्यकार रॉबिन शॉ पुष्प नहीं रहेन्यायालय ने गुमशुदा बच्चों के मामलों में प्राथमिकी दर्ज नहीं करने पर बिहार और छत्तीसगढ़ सरकारों को आड़े हाथ लिया।सरकार 1984 के सिख विरोधी दंगों में मारे गए 3,325 लोगों में से प्रत्येक के नजदीकी परिजन को पांच़-पांच लाख देगीमहाराष्ट्र की नई सरकार में शिवसेना के किसी नेता को शामिल नहीं किया जाएगा: राजीव प्रताप रूडी
सोने का आयात कम किया जाएगा: चिदंबरम
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:02-01-13 05:08 PM

सोने का बढ़ता आयात और इससे चालू खाते के घाटे के बढ़ते अंतर को लेकर चिंतित वित्त मंत्री पी़ चिदंबरम ने बुधवार को कहा कि सरकार सोने को और महंगा कर इसके आयात पर अंकुश लगाने के उपायों पर विचार कर रही है।

उन्होंने यहां संवाददाताओं को बताया कि सोने की मांग में नरमी लाना आवश्यक हो गया है, हमारे पास सोने का आयात और महंगा करने के अलावा कोई चारा नहीं है। यह मामला सरकार के विचाराधीन है।

चिदंबरम ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के पहले छह महीने के दौरान चालू खाता घाटा बढ़कर 38.7 अरब डॉलर या जीडीपी का 4.6 प्रतिशत पहुंच गया है। इसमें सोने के आयात का प्रमुख योगदान है, जो बढ़कर 20.25 अरब डॉलर पहुंच गया।

भारत के तेजी से बढ़ते चालू खाते के घाटे में सोने की एक बड़ी हिस्सेदारी है। वर्ष की दूसरी तिमाही जुलाई़-सितंबर में चालू खाते का घाटा बढ़कर रिकार्ड ऊंचाई जीडीपी के 5.4 प्रतिशत या 22.3 अरब डॉलर पर पहुंच गया।

चालू वित्त वर्ष में हालांकि, अप्रैल़-सितंबर के दौरान 20.2 अरब डालर मूल्य के सोने का आयात पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 30.3 प्रतिशत कम है। वित्त वर्ष 2011.12 की संपूर्ण अवधि में सोने का आयात 56.2 अरब डॉलर रहा था।

 
 
 
टिप्पणियाँ