शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 22:12 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
सोने का आयात कम किया जाएगा: चिदंबरम
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:02-01-13 05:08 PM

सोने का बढ़ता आयात और इससे चालू खाते के घाटे के बढ़ते अंतर को लेकर चिंतित वित्त मंत्री पी़ चिदंबरम ने बुधवार को कहा कि सरकार सोने को और महंगा कर इसके आयात पर अंकुश लगाने के उपायों पर विचार कर रही है।

उन्होंने यहां संवाददाताओं को बताया कि सोने की मांग में नरमी लाना आवश्यक हो गया है, हमारे पास सोने का आयात और महंगा करने के अलावा कोई चारा नहीं है। यह मामला सरकार के विचाराधीन है।

चिदंबरम ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के पहले छह महीने के दौरान चालू खाता घाटा बढ़कर 38.7 अरब डॉलर या जीडीपी का 4.6 प्रतिशत पहुंच गया है। इसमें सोने के आयात का प्रमुख योगदान है, जो बढ़कर 20.25 अरब डॉलर पहुंच गया।

भारत के तेजी से बढ़ते चालू खाते के घाटे में सोने की एक बड़ी हिस्सेदारी है। वर्ष की दूसरी तिमाही जुलाई़-सितंबर में चालू खाते का घाटा बढ़कर रिकार्ड ऊंचाई जीडीपी के 5.4 प्रतिशत या 22.3 अरब डॉलर पर पहुंच गया।

चालू वित्त वर्ष में हालांकि, अप्रैल़-सितंबर के दौरान 20.2 अरब डालर मूल्य के सोने का आयात पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 30.3 प्रतिशत कम है। वित्त वर्ष 2011.12 की संपूर्ण अवधि में सोने का आयात 56.2 अरब डॉलर रहा था।
 
 
 
टिप्पणियाँ