शनिवार, 20 दिसम्बर, 2014 | 09:12 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
झारखंड : बोरियो के बूथ नं 208 में एक घंटे में 124 वोट पड़ेझारखंड : जामताड़ा में सुबह से महिला मतदाताओं में गज़ब का उत्साहजम्मू कश्मीर में 20 सीटों के लिए मतदान शुरूझारखंड: दुमका के बूथ नम्बर 114 में सुबह से मतदाताओं में उत्साह नजर आ रहा हैझारखंड: सारठ के पालाजोरी ब्लॉक में बूथ नंबर 172 पर इवीएम खराब, 15 मिनट देर से शुरू हुआ मतदानझारखंड: दुमका के 114 नंबर बूथ पर सुबह से लगी महिला वोटरों की लंबी कतारझारखंड: जामताड़ा के बूथ नंबर 203 पर सुबह 7 बजे से ही वोटरों की लंबी कतार लगीझारखंड : दुमका के बूथ नम्बर 207 में पहला वोट पड़ा
एयर इंडिया पर तेल कंपनियों का करोड़ों बकाया
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:11-12-12 07:50 PM
Image Loading

राष्ट्रीय एयरलाइन एयर इंडिया पर सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों का जेट ईंधन (एटीएफ) का 4,064 करोड़ रुपए का बकाया है। किसी घरेलू विमानन कंपनी पर पेट्रोलियम कंपनियों की यह सबसे बड़ी बकाया राशि है।

राज्यसभा को मंगलवार को सूचित किया गया कि कुल 4,064.77 करोड़ रुपए में से 2,571.73 करोड़ रुपए की राशि ऐसी है, जिसका निर्धारित अवधि के बाद भी भुगतान नहीं किया गया है। निजी एयरलाइंस की तरह एयर इंडिया ने अपने बकाये के लिए कोई सिक्योरिटी नहीं दी है।

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्यमंत्री पनाबाका लक्ष्मी ने एक लिखित जवाब में बताया कि एयर इंडिया पर इंडियन आयल कॉरपोरेशन का 2,393.79 करोड़ रुपए का बकाया है जिसमें से 1,698.79 करोड़ रुपए की राशि निर्धारित समय के बाद भी अदा नहीं की गई है।

जेट एयरवेज पर इंडियन आयल कारपोरेशन का 958.46 करोड़ रुपए का बकाया है जिसमें से सिर्फ 35.46 करोड़ रुपए ही निर्धारित समय के बाद भी नहीं चुकाए गए हैं। शेष राशि 90 दिन की ऋण की अवधि में आती हैं जो पेट्रोलियम कंपनियां जेट, एयर इंडिया और अन्य एयरलाइंस को उपलब्ध कराती है।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड