रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 19:25 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
किंगफिशर के पायलटों ने कहा, वेतन नहीं मिला तो शिकायत डीजीसीए तक पहुंचा देंगे
मुंबई, एजेंसी First Published:30-11-2012 03:03:25 PMLast Updated:30-11-2012 03:17:12 PM
Image Loading

किंगफिशर एयरलाइंस के पायलटों ने धमकी दी है कि यदि उन्हें वायदे के मुताबिक मई का वेतन शुक्रवार को नहीं मिला, तो वे इसकी शिकायत नियामक डीजीसीए से करेंग। वैसे डीजीसीए पहले ही कह चुका है कि वेतन का विषय उसके दायरे में नहीं आता।

विमानन कंपनी के सूत्रों ने बताया कि हमने एयरलाइंस के मुख्य कार्यकारी को पत्र लिखा है कि यदि शुक्रवार को वेतन का भुगतान नहीं किया जाता है, तो हम नागर विमानन महानिदेशालय से संपर्क कर हस्तक्षेप करने को कहेंगे। विमानन कंपनी ने मई से अपने 4,000 कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया है।

इससे पहले प्रबंधन ने आश्वस्त किया था कि उनके सात महीने के बकाया वेतन में से तीन महीने के वेतन का भुगतान अलग-अलग चरणों में दिवाली तक कर दिया जाएगा। विमानन कंपनी का परिचालन एक अक्टूबर से बंद है, जबकि उसके पयलटों और इंजीनियरों ने वेतन के भुगतान के संबंध में हड़ताल की थी। कंपनी के उड़ान लाइसेंस को भी अस्थाई तौर पर स्थगित कर दिया गया है।

हालांकि, विमानन कंपनी का प्रबंधन किसी तरह उनका आंदोलन खत्म कराने में कामयाब हुआ और आश्वासन दिया कि दिवाली तक तीन किश्तों में मार्च से मई तक के बकाए का भुगतान करेगी। इसके बाद आंदोलन 24 अक्टूबर हड़ताल वापस ले ली गई।

इस बीच डीजीसीए से एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि वेतन कंपनी का आंतरिक मामला है, जिसका समाधान प्रबंधन और कर्मचारियों में मिलकर करना है। हमारी चिंता सुरक्षा से जुड़ी और हमने इसके कारण कंपनी का उड़ान लाइसेंस अस्थाई तौर स्थगित कर दिया है। अधिकारी ने हालांकि कहा कि इन मामलों पर उस वक्त निश्चित तौर पर विचार किया जाएगा, जब विमानन कंपनी पुनरुद्धार योजना पेश करेगी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingकोलंबो टेस्ट: भारत को 132 रनों की बढ़त
इशांत शर्मा ( 54 रन पर पांच विकेट) की घातक गेंदबाजी और इससे पहले ओपनर चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 145) रन के शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने यहां तीसरे और निर्णायक टेस्ट मैच के तीसरे दिन रविवार को अपना शिकंजा कसते हुये मेजबान श्रीलंका के खिलाफ 111 रन की महत्वपूर्ण बढ़त हासिल कर ली।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

सीसीटीवी कैमरों का जमाना है...
पिता: एक समय था, जब मैं 10 रुपए में किराना, दूध, सब्जी और नाश्ता ले आता था..
बेटा: अब संभव नहीं है, पापा अब वहां सीसीटीवी कैमरे लगे होते हैं।