मंगलवार, 30 सितम्बर, 2014 | 19:24 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
ओबामा और मोदी ने कहा कि अब भी हमारे संबध की वास्तविक क्षमता को पूरी तरह हकीकत का रूप दिया जाना बाकी है।मोदी और ओबामा ने कहा कि साल 2000 में निस्संदेह, ऐसा बहुत कुछ हुआ जिसके चलते तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी कह सके कि हम स्वाभाविक साझीदार हैं।मोदी और ओबामा ने एक संयुक्त संपादकीय में कहा कि हमारे संबंध में पहले से बहुत ज्यादा द्विपक्षीय तालमेल है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि आज हमारी भागीदारी मजबूत, विश्वसनीय और टिकाऊ है और इसमें विस्तार हो रहा है।अगस्त, 2014 में आठ बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर 5.8 प्रतिशत रही जो बीते साल की इसी अवधि में 4.7 प्रतिशत थी।जयललिता की जमानत याचिका पर कर्नाटक उच्च न्यायालय बुधवार को सुनवाई करेगा।मारुति सुजुकी मार्च, 2010 और अगस्त, 2013 के बीच विनिर्मित डिजायर, स्विफ्ट और रिट्ज की 69,555 कारें वापस मंगाएगी।दिल्ली की अदालत ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम और छोटा शकील को भगोड़ा अपराधी घोषित किया।
 
2012 बेहतर होगा 2013: इन्फोसिस
नई दिल्ली, एजेंसी
First Published:03-01-13 10:33 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

इन्फोसिस के कार्यकारी सह चेयरमैन एस गोपालकृष्णन का मानना है कि 100 अरब डॉलर के आईटी उद्योग के लिए 2013 का साल 2012 से अच्छा रहेगा। उन्होंने गुरुवार को कहा कि आर्थिक वातावरण में सुधार तथा प्रौद्योगिकी में निवेश बढ़ने की वजह से यह साल ज्यादा अच्छा रहेगा।

गोपालकृष्णन ने इन्फोसिस साइंस फाउंडेशन के पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि 2013 निश्चित रूप से 2012 से बेहतर रहेगा। वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार हुआ है विशेष कर अमेरिका में सुधार हो रहा है। चीन भी तेजी से बढ़ रहा है। भारत में भी स्थिति सुधरनी शुरू हुई है। ऐसे में संभवत: यूरोप को छोड़कर अन्य दुनिया में स्थिति में सुधार हो रहा है।

उन्होंने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए जो अच्छा है, वह आईटी क्षेत्र के लिए भी बेहतर है। ऐसे में यह साल आईटी क्षेत्र के लिए अच्छा रहने की उम्मीद है। हालांकि, इसके साथ ही उन्होंने जोड़ा कि अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है, क्योंकि कुछ भी ऐसा हो सकता है जिसकी उम्मीद नहीं है।

इस बीच, इन्फोसिस साइंस फाउंडेशन ने आज इन्फोसिस प्राइज 2012 के पांच विजेताओं को पुरस्कृत किया। उन्हें यह सम्मान विज्ञान तथा मानविकी के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए दिया गया है। नेशनल केमिकल लैबोरेटरीज के वैज्ञानिक आशीष लेले को उनके इंजीनियरिंग तथा कंप्यूटर साइंस में योगदान के लिए पुरस्कृत किया गया। वहीं प्रोफेसर सुब्रहमण्यम को इतिहास में उनके अध्ययन के लिए सम्मानित किया गया।

अन्य विजेताओं में प्रोफेसर अमित चौधरी (ह्यमैनिटीज लिटरेरी स्टडीज), प्रोफेसर सत्यजीत मेयर (लाइफ साइंस), प्रोफेसर मंजुल भार्गव (मैथमैटिकल साइंस), ए अजयाघोष (फिजिकल साइंस) तथा प्रोफेसर अरुणव सेन (सोशल साइंस-अर्थशास्त्र) शामिल हैं।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°