शुक्रवार, 29 मई, 2015 | 13:44 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    26 लड़कियों से दुष्कर्म करने वाले टीचर को मौत की सजा रेडियोएक्टिव पदार्थ लीक होने से आईजीआई एअरपोर्ट पर अफरा तफरी स्पेलिंग बी प्रतियोगिता में फिर से भारतीयों का बोलबाला सरकारी नौकरी के मौके ही मौकेः 400 से ज्यादा दसवीं पास से लेकर इंजीनियर तक वैकेंसी 4.3 लाख साल पहले हुई थी पहली बार इंसान की हत्या VIDEO: देखिए जब सिख लड़के ने अंग्रेज छात्र को सिखाया सबक बिंद्रा ने रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया PM की आलोचना पर पाबंदी, लालू बोले ये दलितों का अपमान देशभर में कहीं बारिश कहीं लू, अब तक 1826 लोगों की मौत पलमेरा के रोमन थिएटर में आईएस का नरसंहार
औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े निराशाजनक: प्रणब
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:12-04-12 03:18 PM
Image Loading

औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर के आंकड़ों को निराशाजनक बताते हुए वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने इसकी मुख्य वजह सख्त मौद्रिक नीति और वैश्विक कारणों को बताया है। उन्होंने कहा है कि भारतीय रिजर्व बैंक और सरकार औद्योगिक उत्पादन में सुधार के लिए कदम उठाएंगे।
    
वित्त मंत्री ने कहा कि इन आंकड़ों का असर अगले सप्ताह पेश होने वाली मौद्रिक नीति की समीक्षा में दिखाई देगा। सरकार और रिजर्व बैंक अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए मिलकर कदम उठाएंगे।
     
फरवरी माह में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर घटकर 4.1 फीसदी पर आ गई है, जो एक साल पहले इसी महीने में 6.7 प्रतिशत रही थी। अप्रैल से फरवरी 2011-12 के दौरान औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर घटकर 3.5 प्रतिशत रह गई है, जो पिछले साल इसी अवधि में 8.1 फीसदी थी।
    
वित्त मंत्री ने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में अनिश्चितता तथा पिछले कुछ समय से मौद्रिक नीति में सख्ती की वजह से निवेश में सुधार प्रभावित हुआ है।

रिजर्व बैंक मौद्रिक नीति की समीक्षा 17 अप्रैल को पेश करने जा रहा है। जनवरी, 2012 के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े को संशोधित कर 6.8 से 1.14 फीसदी किए जाने को निराशाजनक बताते हुए मुखर्जी ने कहा कि 2011-12 की अंतिम तिमाही में विनिर्माण क्षेत्र की स्थिति में सुधार उतना नहीं हुआ, जैसी उम्मीद थी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड