रविवार, 02 अगस्त, 2015 | 13:49 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
पासवान की मांग, बिहार चुनाव राष्ट्रपति शासन में कराया जाएमुंबई असोसियेशन ने शाहरुख खान से 5 साल का बैन हटाया, वानखेडे स्टेडियम जाने पर लगी थी रोकअमरोहा में नौगावां रोड पर रोडवेज़ ने दो छात्रों को कुचला। दोनों की हालत गंभीर। बस अमरोहा से बिजनौर जा रही थी।बिहार के जमुई में दीवार गिरने से दो लोगों की मौतयूपी के संभल में पुलिस हिरासत में लिए गए युवक की मौत। युवक का शव घर के पास एक खेत में मिला। गुस्साए परिजनों ने संभल-मुरादाबाद मार्ग पर लगाया जाम, हंगामा जारी। कई थानों की पुलिस को मौके पर।
2010-11 में रोजगार 7.8 प्रतिशत बढ़ा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:31-12-2012 10:52:09 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

उद्योग में रोजगार की संख्या 2010-11 में 7.8 प्रतिशत बढ़ी जबकि वेतन में वास्तविक रूप से (मुद्रास्फीति निकालकर) 18.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई। सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय द्वारा सोमवार को जारी सालाना औद्योगिक सर्वे के अनुसार 2010-11 में विभिन्न उद्योगों में 1.27 करोड़ लोग लगे थे जबकि 2009-10 में यह संख्या 1.17 करोड़ थी।

चालू कीमतों पर वेतन 2010-11 में 24.8 प्रतिशत बढ़ा जबकि वास्तविक रूप से वेतन में 18.1 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। सर्वे के अनुसार खाद्य उत्पादों (उत्पादन इकाइयां) में सर्वाधिक 12.2 प्रतिशत रोजगार का सृजन हुआ। उसके बाद क्रमश: कपड़ा (11.5 प्रतिशत) तथा मूल धातु (8 प्रतिशत) का स्थान रहा।

रोजगार देने में तमिलनाडु आगे रहा। इस मामले में उसकी 15.4 प्रतिशत हिस्सेदारी रही। उसके बाद क्रमश: महाराष्ट्र (13.4 प्रतिशत), आंध्र प्रदेश (10.3 प्रतिशत) तथा गुजरात (10.1 प्रतिशत) का स्थान रहा।

आलोच्य वर्ष में कुल फैक्टरी की संख्या 2,11,660 रही जबकि 209-10 में यह संख्या 1,58,877 इकाई थी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingएक विकेट की रोमांचक जीत से पाकिस्तान का सिरीज पर कब्जा
नौंवे नम्बर के बल्लेबाज अनवर अली की 46 रन की तूफानी पारी से पाकिस्तान ने श्रीलंका को दूसरे ट्वेंटी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में चार गेंद शेष रहते एक विकेट से हराकर सिरीज 2-0 से जीत ली।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?