रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 02:07 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
भारत के विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर उच्चतम स्तर पर
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:03-12-12 01:14 PMLast Updated:03-12-12 01:15 PM
Image Loading

नए ऑर्डर और खरीद गतिविधियों में सुधार के मद्देनजर भारत के विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर में नवंबर के दौरान सुधार हुआ है और पिछले पांच महीने के मुकाबले सबसे तेज वृद्धि दर्ज हुई।
   
एचएसबीसी इंडिया मैन्यूफैक्चरिंग पर्चेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) अक्टूबर के 52.9 की तुलना में 53.7 पर था। इसे भारतीय विनिर्माण क्षेत्र के स्वास्थ्य में सुधार का संकेत मिलता है।
   
यह सूचकांक पिछले तीन साल से 50 से उपर है। इससे नीचे रहने का मतलब है उत्पादन संकुचित हो रहा है। एचएसबीसी पीएमआई अगस्त में पिछले नौ महीने के न्यूनतम स्तर पर पहुंचने के बाद से सुधर रहा है।
   
एचएसबीसी के मुख्य अर्थशास्त्री (भारत-आसियान) लीफ एस्केसेन ने कहा नए आर्डर के मद्देनजर उत्पादन बढ़ने से कारण विनिर्माण क्षेत्र में तेजी दिखी। एचएसबीसी ने कहा कि बिजली की किल्लत के कारण उत्पादन में अड़चन रही।
 
 
 
टिप्पणियाँ