सोमवार, 25 मई, 2015 | 10:55 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    ये हैं मोदी सरकार की 25 बड़ी उपलब्धियां और 25 चुनौतियां सेक्सी नहीं, फाइटर के रूप में पहचान चाहती हैं रोसी रामपुर: ट्रांसफार्मर में आग लगने से मची भगदड़ CBSE 12वीं का रिजल्ट आज, गणित में मिलेंगे ग्रेस मार्क्स नोबेल पुरस्कार विजेता मशहूर अर्थशास्त्री जॉन नैश का निधन अब ओपन कैबिनेट मीटिंग कैसे कर पाएंगे अरविंद केजरीवाल मथुरा में आज मोदी की रैली, धमकी देने वाला गिरफ्तार आईपीएल 8 में लगातार चार मैच हार चुकी थी मुंबई इंडियंस, और फिर... मोदी सरकार को केजरीवाल से एलर्जी: सिसोदिया  चेन्नई सुपरकिंग्स को हराकर मुंबई इंडियन्स बना आईपीएल चैम्पियन
अनाज की बर्बादी घटी, भंडारण क्षमता बढ़ी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:04-12-12 02:35 PM
Image Loading

सरकार ने मंगलवार को कहा कि देश में अनाज की भंडारण क्षमता बढ़ी है और भंडार गृहों में अनाज की बर्बादी में काफी कमी आई है।

लोकसभा में रतन सिंह अजनाला समेत कई अन्य सदस्यों के पूरक प्रश्न के उत्तर में उपभोक्ता, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मामलों के मंत्री केवी थामस ने कहा कि 2002-03 में अनाज की बर्बादी 2.5 प्रतिशत थी, जो अब घटकर 0.06 प्रतिशत रह गई है।

उन्होंने कहा कि 2001-02 में गेहूं का उत्पादन 72.7 करोड़ टन था और उस वर्ष 19 करोड़ टन अनाज की खरीद सरकार ने की थी। 10 वर्ष बाद अब गेहूं का उत्पादन 93.9 करोड़ टन है, जबकि 38 करोड़ टन अनाज की खरीद सरकार ने की है।

उन्होंने कहा कि भंडारण क्षमता बढ़ाए जाने की अभी भी आवश्यकता है, लेकिन निजी क्षेत्र से लोग इस कार्य के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। देश के कुल उत्पादन का 37 प्रतिशत अनाज ही खरीदा जा रहा है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड