सोमवार, 04 मई, 2015 | 14:31 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
हापुड़ में शिक्षिका ने अपनी बेटी के साथ दो लड़कों द्वारा रेप की रिपोर्ट दर्ज कराई। सुबह से ही शिक्षक संगठनों में रोष व्याप्त था। संगठनों ने एसपी दफ्तर पर प्रदर्शन किया।बिजनौर के धामपुर थाना क्षेत्र में एनएच 74 स्थित गांव मंडोरा के समीप अर्धविक्षिप्त महिला से गैंगरेप। एनएच के पास पड़ी मिली महिला। पुलिस ने जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। महिला बिहार की रहने वाली बताई जा रही है। छह लोगों द्वारा रेप की बात सामने आ रही है। पुलिस छानबीन में जुटी।शाहजहांपुर- खुटार में कंटेनर-कार की टक्कर में छह युवकों की मौतअमरोहा में चलती ट्रेन से कूदे वृद्ध दंपति, पति दूर गिरा, पत्नी ट्रेन और पटरी के बीच गिरी, पूरी ट्रेन महिला के ऊपर से गुजरी, महिला पूरी तरह सुरक्षित।विपक्षी पार्टियों द्वारा झारखंड बंद आज, धनबाद में 15 मिनट राजधानी एकेसप्रेस को रोका गया, जगह जगह टायर जलाकर जाम की कोशिश, झाविमो जिला अध्यक्ष फिरोज खान को पुलिस ने घर से गिरफ्तार किया, जमशेदपुर से तोड़फोड़ की सूचनाएं
मिलों से खरीदी जाने वाली चीनी की कीमत बढ़ा सकती है सरकार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:08-01-13 12:45 PMLast Updated:08-01-13 01:15 PM
Image Loading

सरकार राशन की दुकानों के जरिये बेचने के लिये मिलों से खरीदी जाने वाली चीनी की कीमत (लेवी मूल्य) चालू वर्ष के लिये करीब दो रुपये से अधिक बढ़ाकर करीब 22 रुपये प्रति किलो कर सकती है। 
     
विपणन वर्ष 2011-12 (अक्टूबर-सितंबर) में चीनी का लेवी मूल्य 19.04 रुपये किलो था। सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हमने पिछले साल के मुकाबले चीनी की लेवी कीमत में 2 रुपये प्रति किलो से अधिक की वृद्धि का प्रस्ताव किया है।
     
अधिकारी के अनुसार वित्त मंत्रालय प्रस्ताव पर विचार कर रहा है। लेवी कीमत बढ़ने से 400-500 करोड़ रुपये की सब्सिडी बढ़ेगी। चीनी क्षेत्र सरकार के नियंत्रण में है। चीनी मिलों को सस्ते गल्ले की दुकानों से बिकने वाली चीनी के लिये अपने कुल उत्पादन का 10 प्रतिशत हिस्सा सरकार को बेचना होता है। 
     
लेवी कीमत का आकलन उचित और लाभदायक मूल्य (एफआरपी) के आधार पर किया जाता है। विपणन वर्ष 2012-13 के लिये एफआरपी 170 रुपये प्रति क्विंटल था।
     
सरकार बाजार भाव से कम मूल्य पर चीनी खरीदती है और राशन की दुकानों के जरिये 13.50 रुपये प्रति किलो बेचती है। सरकार हर साल गरीबों को राशन की दुकानों के जरिये 27 लाख टन चीनी बेचती है। अधिकारी ने कहा कि चीन की लेवी कीमत हर साल बढ़ रही है लेकिन खुदरा मूल्य 2002 से समान है।
     
सरकार ने चालू वर्ष में चीनी का उत्पादन 2.3 करोड़ टन रहने का अनुमान जताया है जबकि पिछले साल 2.6 करोड़ टन चीनी का उत्पादन हुआ था। घरेलू मांग 2.1 से 2.2 करोड़ टन रहने का अनुमान है और इस लिहाज से उत्पादन पर्याप्त है।
     
अधिकारी ने कहा कि सरकार अगले महीने गन्ना उत्पादन के दूसरे अग्रिम अनुमान के आधार पर चीनी उत्पादन के अनुमान को संशोधित कर सकती है। 

 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें
Image Loadingदिल्ली को हराकर फिर शीर्ष पर पहुंची राजस्थान रॉयल्स
राजस्थान रॉयल्स ने रविवार को ब्रेबोर्न स्टेडियम में हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आठवें संस्करण के 36वें मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स को रनों से हरा दिया। इसके साथ ही रॉयल्स 14 अंकों के साथ एक बार फिर अंक तालिका में शीर्ष पर पहुंच गए।