शनिवार, 31 जनवरी, 2015 | 04:44 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
फतुहा में बिजली की तार की चपेट में ट्रॉली आई, दो की मौतअमिता को पीजीआई लखनऊ भेजा गया था महिला के खून का नमूना, जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टिबरेली में स्वाइन फ्लू से पहली मौत की पुष्टि, राममूर्ति मेडिकल कालेज में हुई थी 24 जनवरी को सीबीगंज की अमिता उपाध्याय की मौतपाकिस्तान के शिकारपुर में ब्लास्ट, 20 लोगों की मौतयूपी: लखीमपुर खीरी के मैगलंगज में युवक की हत्या, ट्रैक्टर ट्रॉली पर फेंक दिया शव, गला दबाकर हत्या का आरोपबरेली : इंडियन वैटेनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईवीआरआई) और सेंट्रल एवियन रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएआरआई) में रेबीज का कहर, आवारा कुत्तों के काटने से कई वैज्ञानिक रेबीज की चपेट में, मारे गए कुत्तों के पोस्टमार्टम में रेबीज की पुष्टि
स्कूटर्स इंडिया के लिए 200 करोड़ रुपये के पैकेज पर विचार करेगी सरकार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:08-01-13 01:25 PM

सरकार आगामी गुरुवार को संकटग्रस्त सार्वजनिक कंपनी स्कूटर्स इंडिया के लिए 200 करोड़ रुपये के पुनरुद्धार पैकेज पर विचार कर सकती है।

सूत्रों ने कहा है कि सरकार द्वारा स्कूटर्स इंडिया में अपनी पूर्ण हिस्सेदारी बेचने की योजना टालने के बाद भारी उद्योग विभाग ने कंपनी के पुनरुद्धार के लिए 200 करोड़ रुपये से अधिक का पैकेज देने का प्रस्ताव किया था। उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल गुरुवार को स्कूटर्स इंडिया के पुनरुद्धार के लिए प्रस्ताव पर चर्चा कर सकता है।

वाहन कंपनी स्कूटर्स इंडिया में करीब 1,200 नियमित कर्मचारी हैं और यह कंपनी 2002-03 से ही घाटे में चल रही है। मार्च, 2009 में कंपनी को संकटग्रस्त घोषित किया गया था। वर्ष 1972 में स्थापित स्कूटर्स इंडिया घरेलू बाजार में लिए विजय सुपर ब्रांड नाम से स्कूटर का विनिर्माण करती रही है, जबकि विदेशी बाजारों के लिए वह लैंब्रेटा ब्रांड नाम से स्कूटर बनाती रही है।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड