शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 14:51 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
देश तानाशाही की ओर जा रहा है, यह बिहार का चुनाव नहीं पूरे देश को बचाने का चुनाव है: लालू।लालू यादव ने सपा को 5 सीट देने की घोषणा की।उत्तराखंडः रुड़की के मोहनपुरा फाटक के पास टैंकर और बाइक की टक्कर, बाइक सवार महिला की मौत, पति घायल।झारखंड: रांची में डीपीएस स्कूल के पास ट्रेन से कटकर एक व्यक्ति की मौत।
ग्रामीण योजनाएं दे सकती हैं ग्रीन एजेंडा को गति
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:04-01-2013 05:16:14 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

सरकार पर्यावरण अनुकूल एजेंडा को प्रोत्साहन देने के लिए मनरेगा जैसी ग्रामीण विकास की योजनाओं का इस्तेमाल करने पर विचार कर रही है।

समावेशी ग्रामीण विकास के लिए ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी की गई एक रिपोर्ट में सुझाई गई रणनीति के मुताबिक, मंत्रालय के पास एक समर्पित पर्यावरण प्रकोष्ठ होना चाहिए जो ग्रामीण इलाकों में विभिन्न योजनाओं के जरिए पर्यावरण अनुकूल उद्देश्यों को दिशा प्रदान कर सके।

भारत में पर्यावरण अनुकूल तरीके से ग्रामीण विकास शीर्षक से जारी रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) के सहयोग से तैयार की गई है। इस रिपोर्ट को योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह आहलुवालिया, ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश और पर्यावरण मंत्री जयंती नटराजन द्वारा संयुक्त रूप से जारी किया गया।

रमेश ने कहा कि करीब 75,000 करोड़ रुपए के सालाना बजट के साथ ग्रामीण विकास मंत्रालय की योजनाओं में सतत गरीबी उन्मूलन और प्राकृतिक संसाधनों के प्रभावी इस्तेमाल के लक्ष्य को हासिल करने की जबरदस्त संभावना है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: भारत को 7वां झटका, आर. अश्विन आउट
भारतीय क्रिकेट टीम ने शनिवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ तीसरे निर्णायक टेस्ट में बल्लेबाजी करते हुए अपना 7वां विकेट गंवा दिया।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।