रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 11:30 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आज मोदी की चाय पार्टी में शामिल हो सकते हैं शिवसेना सांसद शिक्षिका ने की थी गोलीबारी रोकने की कोशिश नांदेड-मनमाड पैसेजर ट्रेन के डिब्बे में आग,यात्री सुरक्षित दिल्ली के त्रिलोकपुरी में हिंसा के बाद बाजार बंद, लगाया गया कर्फ्यू मनोहर लाल खट्टर आज मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे, मोदी होंगे शामिल राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी
वर्ष 2013 में तेजी की चमक बिखेरता रहेगा सोना
मुंबई, एजेंसी First Published:30-12-12 04:55 PM
Image Loading

अगले साल भी सोना तेजी की चमक बिखेरता रहेगा। विश्लेषकों के मुताबिक, अर्थव्यवस्था में तेजी आने के आसार एवं कुछ निश्चित वैश्विक कारकों से सोने की कीमत 33,000 रुपये के स्तर पर पहुंच सकती है।

कोटक कमोडिटी सर्विसेज की विश्लेषक माधवी मेहता ने कहा कि दीर्घकाल में, सोने में तेजी का रुख बने रहने की संभावना है, क्योंकि ज्यादातर देशों के केंद्रीय बैंक सोने की खरीद बढ़ा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ब्राजील और रूस के केंद्रीय बैंकों की योजना अगले साल सोने का भंडार बढ़ाने की है। वर्ष 2013 के लिए हमारा अनुमान है सोना 28,000.33,000 के स्तर पर रहेगा। हालांकि, रुपया में स्थिरता और अमेरिका का राजकोषीय असंतुलन सोने में नरमी ला सकता है।

पिछले सप्ताह, सोना 30,600 रुपये प्रति दस ग्राम पर रहा, जबकि वैश्विक बाजारों में यह 1,658 डॉलर प्रति औंस पर रहा। इसी तरह का विचार व्यक्त करते हुए कामट्रेंडज रिसर्च के निदेशक ज्ञानशेखर त्यागराजन ने कहा कि बाजार लंबे समय से अमेरिका में राजकोषीय असंतुलन दूर करने के लिए प्रस्ताव पारित होने का इंतजार कर रहा है।

उन्होंने कहा कि दीर्घकाल में घरेलू बाजार में सोने की कीमत 33,000 रुपये से 34,000 रुपये के स्तर पर पहुंच सकती है। हालांकि, यदि अमेरिका में प्रस्ताव पारित होने से रह जाता है तो सोने में गिरावट आएगी।
 
 
 
टिप्पणियाँ