शुक्रवार, 24 अक्टूबर, 2014 | 02:06 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
डीजीसीए ने मांगी किंगफिशर से उसकी वित्तीय स्थिति की जानकारी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:28-12-12 09:36 PM
Image Loading

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने निजी क्षेत्र की संकटग्रस्त किंगफिशर एयरलाइंस से उसकी वित्तीय स्थिति के बारे में और जानकारी मांगी है।

आधिकारिक सूत्रों ने आज बताया कि डीजीसीए ने एयरलाइंस से इस बारे में और जानकारी मांगी है कि किंगफिशर ने अपनी उड़ाने फिर शुरू करने के लिए जो नियामक को पुनरोद्धार योजना सौंपी है उसका वित्त पोषण वह किस तरीके से करेगी।

डीजीसीए ने एयरलाइन से पूछा है कि वह अपने ऋणदाताओं को बकाया चुकाने के लिए कैसे धन जुटाएगी। साथ ही वह कर्मचारियों के लंबित वेतन का भुगतान कैसे करेगी।

किंगफिशर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी संजय अग्रवाल ने डीजीसीए के प्रमुख अरुण मिश्र को सोमवार को सूचित किया कि एयरलाइन को अगले 12 माह में अपने परिचालन के लिए 652 करोड़ रुपए की जरूरत होगी। यह राशि मूल कंपनी यूबी समूह देगा। इसमें से 120 करोड़ रुपए की जरूरत कर्मचारियों का बकाया वेतन चुकाने के लिए होगी।

हालांकि, यूबी समूह ने इस बारे में नहीं बताया है कि वह यह राशि कैसे देगा। बैंकों का इस संकटग्रस्त एयरलाइंस को ऋण देने को लेकर रुख ठंडा है।
 
 
 
टिप्पणियाँ