बुधवार, 01 जुलाई, 2015 | 02:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    'मेंढक' को है आपकी दुआओं की जरूरत, कोमा में है आपका चहेता किरदार सुनंदा पुष्कर केस में शशि थरूर का लाइ डिटेक्टर टेस्ट कराने की तैयारी में जुटी पुलिस शर्मनाक: सीरिया में आईएस ने दो महिलाओं का सिर कलम किया उपचुनाव में रिकॉर्ड डेढ लाख वोटों के अंतर से जीतीं जयलिलता, सभी विरोधी उम्मीदवारों की जमानत जब्त धौलपुर महल विवाद: कांग्रेस ने राजे के खिलाफ नए सबूत पेश किए, भाजपा बोली, छवि बिगाड़ने की साजिश ट्विटर पर जॉन ने खोली 'वेलकम बैक' की रिलीज़ डेट, आप भी जानिए बांग्लादेश में उड़ा टीम इंडिया का मजाक, इन क्रिकेटरों को दिखाया आधा गंजा गांगुली ने टीम इंडिया में हरभजन की वापसी का किया स्वागत रोहित समय के पाबंद हैं, उनके साथ काम करना मुश्किल: शाहरूख खान तेंदुलकर ने अजिंक्य रहाणे को दीं शुभकामनाएं
नई दिल्ली दुनिया का 5वां सबसे महंगा कार्यालय बाजार
मुम्बई, एजेंसी First Published:19-12-12 08:23 PM
Image Loading

नई दिल्ली दुनिया में पांचवां सबसे महंगा कार्यालय बाजार है। यह निष्कर्ष बुधवार को जारी एक सर्वेक्षण का है।

सीबीआरई ग्लोबल रिसर्च एंड कंसल्टिंग के अर्धवार्षिक प्राइम ऑफिस ऑक्यूपेंसी कॉस्ट्स सर्वेक्षण के मुताबिक नई दिल्ली (कनाट प्लेस) में सलाना प्रति वर्ग फुट स्थान की कीमत 183.30 डॉलर बैठती है और इसके आधार पर यह दुनिया में पांचवां सबसे महंगा कार्यालय बाजार है।

मुम्बई का नरीमन प्वाइंट जुलाई में इस सूची में 20वें स्थान पर था, जहां से गिरकर यह सितम्बर में 25वें स्थान पर आ गया। नव विकसित बांद्रा-कुर्ला परिसर ताजा सर्वेक्षण में 11वें स्थान पर है।

सूची में पहले स्थान पर है हांगकांग सेंट्रल। इसके बाद है लंदन वेस्ट एंड, टोक्यो और बीजिंग।

ताजा सर्वेक्षण 30 सितम्बर 2012 को इन स्थानों पर किराया दर तथा स्थान लेने पर होने वाले खर्च पर आधारित है।

सीबीआरई दक्षिण एशिया प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष अंशुमान मैगजिन ने कहा, ''प्रमुख केंद्रीय कारोबारी जिले में जगह की आपूर्ति काफी सीमित है। निकट भविष्य में आपूर्ति बढ़ने की कोई सम्भावना नहीं है। यह बात गुणवत्तापूर्ण कार्यालय परिसर के मामले में भी लागू होती है, जिसके कारण जगह लेने पर होने वाले खर्च की दर काफी अधिक हो गई है।''

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड