शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 21:47 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
BSNL की सेवाएं निजी क्षेत्र जितनी बेहतर नहीं: सरकार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:05-12-2012 01:25:18 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

केंद्र सरकार ने आज स्वीकार किया कि बीएसएनएल (भारत संचार निगम लिमिटेड़) की सेवाएं उतनी बेहतर नहीं हैं, जितनी निजी कंपनियों की।
   
संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री कपिल सिब्बल ने लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान सुगुमार के तथा पी विश्नाथन के सवालों के जवाब में यह बात कही।
   
सिब्बल ने हालांकि कहा कि बीएसएनएल की सेवाएं बेहतर नहीं होने का मूल कारण यह है कि पिछले तीन साल से बीएसएनएल का कोई टेंडर मंजूर नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि अब जल्द ही बीएसएनएल का एक बड़ा टेंडर मंजूर होने जा रहा है, जिसके बाद स्थिति में सुधार होगा।
  
उन्होंने एक अन्य सवाल के जवाब में बताया कि अक्टूबर 2012 की स्थिति के अनुसार देश भर में मोबाइल फोन कनेक्शन की संख्या 90 करोड 66 लाख 18 हजार है जो 2010 में 58 करोड 43 लाख 23 हजार 402 थी।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।