सोमवार, 25 मई, 2015 | 10:55 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    ये हैं मोदी सरकार की 25 बड़ी उपलब्धियां और 25 चुनौतियां सेक्सी नहीं, फाइटर के रूप में पहचान चाहती हैं रोसी रामपुर: ट्रांसफार्मर में आग लगने से मची भगदड़ CBSE 12वीं का रिजल्ट आज, गणित में मिलेंगे ग्रेस मार्क्स नोबेल पुरस्कार विजेता मशहूर अर्थशास्त्री जॉन नैश का निधन अब ओपन कैबिनेट मीटिंग कैसे कर पाएंगे अरविंद केजरीवाल मथुरा में आज मोदी की रैली, धमकी देने वाला गिरफ्तार आईपीएल 8 में लगातार चार मैच हार चुकी थी मुंबई इंडियंस, और फिर... मोदी सरकार को केजरीवाल से एलर्जी: सिसोदिया  चेन्नई सुपरकिंग्स को हराकर मुंबई इंडियन्स बना आईपीएल चैम्पियन
दुनिया के शीर्ष 30 बदनाम आईटी बाजारों में नेहरू प्लेस
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:14-12-12 04:58 PM

भारतीय राजधानी स्थित बाजार नेहरू प्लेस को दुनिया के शीर्ष 30 बदनाम सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) से जुड़े बाजारों में शामिल किया गया है, जहां विभिन्न प्रकार के नकली सामान बेचे जाते हैं।

अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि नेहरू प्लेस भारत के कई बड़े शहरों के उन बाजारों में शामिल है, जहां पाइरेटेड यानी नकली सॉफ्टवेयर, पाइरेटेड ऑप्टिकल मीडिया वाली फिल्में और संगीत और अन्य नकली चीजें बेची जाती हैं।

इसके अलावा नकली वस्तुएं और सेवाएं प्रदान करने वाले बाजारों में करांची और लाहौर के उर्दू बाजारों को शामिल किया गया है। हालांकि रिपोर्ट में सबसे अधिक बदनाम बाजारों की संख्या चीन में बतायी गयी है। इनमें अवैध ऑपरेटिंग सिस्टम्स सॉफ्टवेयर वाले कंप्यूटरों की बिक्री के लिए विख्यात बॉयनाउ पीसी मॉल्स, पुतियान स्थित फुआन फुटवेयर एंड एक्सेसरी मार्केट, शेनचेन स्थित लुओहु कॉमर्शियल सेंटर, बीजिंग सिल्क बाजार आदि शामिल हैं।

यूएसटीआर के रॉन क्रिक ने कहा कि पाइरेसी और नकली सामानों की बिक्री एक समस्या हैं, जिनसे अमेरिकी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचता है। इनसे देश के लिए महत्वपूर्ण सृजनात्मकता और नवप्रवर्तनकारी उद्यमिता तथा कंपनियों को हानि उठानी पड़ती है और अमेरिकी मध्यम वर्ग के रोजगार के लिए खतरा उत्पन्न होता है।

उन्होंने कहा कि हमने सामानों और सेवाओं के लिए बौद्धिक संपदा के संरक्षण पर निर्भर सभी आकार के वैध कारोबार और उद्योगों पर नकारात्मक प्रभाव डालने वाले बदनाम बाजारों को रेखांकित किया है।

यूएसटीआर 2006 से बदनाम बाजारों की सूची प्रकाशित कर रहा है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड