शुक्रवार, 24 अक्टूबर, 2014 | 15:50 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
कांग्रेस में बदल सकता है पार्टी अध्‍यक्षचिदंबरम ने कहा, नेतृत्‍व में बदलाव की जरूरत हैदेहरादून शहर के आदर्श नगर में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्यागर्भवती महिला समेत तीन लोगों की हत्याहत्याकांड के कारणों का अभी खुलासा नहींपुलिस ने पहली नजर में रंजिश का मामला बताया
दुनिया के शीर्ष 30 बदनाम आईटी बाजारों में नेहरू प्लेस
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:14-12-12 04:58 PM

भारतीय राजधानी स्थित बाजार नेहरू प्लेस को दुनिया के शीर्ष 30 बदनाम सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) से जुड़े बाजारों में शामिल किया गया है, जहां विभिन्न प्रकार के नकली सामान बेचे जाते हैं।

अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि नेहरू प्लेस भारत के कई बड़े शहरों के उन बाजारों में शामिल है, जहां पाइरेटेड यानी नकली सॉफ्टवेयर, पाइरेटेड ऑप्टिकल मीडिया वाली फिल्में और संगीत और अन्य नकली चीजें बेची जाती हैं।

इसके अलावा नकली वस्तुएं और सेवाएं प्रदान करने वाले बाजारों में करांची और लाहौर के उर्दू बाजारों को शामिल किया गया है। हालांकि रिपोर्ट में सबसे अधिक बदनाम बाजारों की संख्या चीन में बतायी गयी है। इनमें अवैध ऑपरेटिंग सिस्टम्स सॉफ्टवेयर वाले कंप्यूटरों की बिक्री के लिए विख्यात बॉयनाउ पीसी मॉल्स, पुतियान स्थित फुआन फुटवेयर एंड एक्सेसरी मार्केट, शेनचेन स्थित लुओहु कॉमर्शियल सेंटर, बीजिंग सिल्क बाजार आदि शामिल हैं।

यूएसटीआर के रॉन क्रिक ने कहा कि पाइरेसी और नकली सामानों की बिक्री एक समस्या हैं, जिनसे अमेरिकी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचता है। इनसे देश के लिए महत्वपूर्ण सृजनात्मकता और नवप्रवर्तनकारी उद्यमिता तथा कंपनियों को हानि उठानी पड़ती है और अमेरिकी मध्यम वर्ग के रोजगार के लिए खतरा उत्पन्न होता है।

उन्होंने कहा कि हमने सामानों और सेवाओं के लिए बौद्धिक संपदा के संरक्षण पर निर्भर सभी आकार के वैध कारोबार और उद्योगों पर नकारात्मक प्रभाव डालने वाले बदनाम बाजारों को रेखांकित किया है।

यूएसटीआर 2006 से बदनाम बाजारों की सूची प्रकाशित कर रहा है।
 
 
 
टिप्पणियाँ