शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 14:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
देश तानाशाही की ओर जा रहा है, यह बिहार का चुनाव नहीं पूरे देश को बचाने का चुनाव है: लालू।लालू यादव ने सपा को 5 सीट देने की घोषणा की।उत्तराखंडः रुड़की के मोहनपुरा फाटक के पास टैंकर और बाइक की टक्कर, बाइक सवार महिला की मौत, पति घायल।झारखंड: रांची में डीपीएस स्कूल के पास ट्रेन से कटकर एक व्यक्ति की मौत।
बिगड सकते हैं आर्थिक हालात: एसोचैम
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:02-12-2012 09:46:19 PMLast Updated:02-12-2012 11:29:56 PM
Image Loading

देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की विकास दर में लगातार आ रही गिरावट के बीच कारोबारी जगत को अभी हालात और बिगडने की चिंता सताने लगी है।

उद्योग एवं वाणिज्य संगठन एसोचैम ने भारतीय कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों के बीच कराए गए एक सर्वेक्षण पर आधारित रिपोर्ट में कहा है कि चालू वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में हालात बेहतर हो सकते हैं, लेकिन उसके पहले घरेलू और वैश्विक वजहों से अर्थव्यवस्था की मुश्किलें काफी बढ सकती हैं।

सर्वेक्षण में शामिल 76 फीसदी मुख्य कार्यकारी अधिकारियों और मुख्य वित्त अधिकारियों ने कहा कि ऊंची ब्याज दरों, बढ़ती महंगाई और कई यूरोपीय देशों की अर्थव्यवस्था में गिरावट का असर भारतीय अर्थव्यवस्था पर भी पडे़गा। उनका मानना है कि ऐसा होने पर भारतीय अर्थव्यवस्था के हालात और भी खराब हो सकते हैं।

लेकिन चालू वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में निर्यात बढने से हालात कुछ संभलने की उम्मीद भी है। खास तौर पर मल्टी ब्रांड खुदरा कारोबार में विदेशी निवेश को मंजूरी देने के फैसले पर संसद में चर्चा कराने के लिए सहमति बन जाने से इस संवेदनशील मुद्दे पर आगे बढने की उम्मीद जगी है।

इसके बावजूद इन कंपनी अधिकारियों का कहना है कि इस वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक विकास दर दशक के निम्नतम स्तर पांच से 5.5 फीसदी पर ही रहेगी। एसोचैम के अध्यक्ष राजकुमार धूत ने कहा कि अगले छह-सात महीनों में हालात बेहतर होने के संकेत दिख रहे हैं।

मल्टी ब्रांड खुदरा कारोबार पर कोई सहमति बन जाने से देश की अर्थव्यवस्था को फायदा होगा। इसके अलावा एशियाई देशों को निर्यात में बढ़ोतरी होने से भी मदद मिलेगी।
 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: भारत को 7वां झटका, आर. अश्विन आउट
भारतीय क्रिकेट टीम ने शनिवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ तीसरे निर्णायक टेस्ट में बल्लेबाजी करते हुए अपना 7वां विकेट गंवा दिया।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।