शनिवार, 20 दिसम्बर, 2014 | 09:54 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
जम्मू के डिवीजनल कमिश्नर अजित कुमार साहू का कहना है कि मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। ठंड के बावजूद बड़ी संख्या में लोग वोट डालने आ रहे हैं। साहू ने कहा कि हमने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं और कहीं से भी हिंसा की कोई खबर नहीं है।राजौरी में मतदान करने के बाद एक वोटर ने कहा कि लोगों में मतदान को लेकर उत्साह है और सभी जगह शांतिपूर्ण तरीके से मतदान चल रहा है।शुक्रवार की रात नौशेरा में पीडीपी कार्यकर्ताओं के हमले में घायल भाजपा प्रत्याशी रविंद्र रैना को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।यूपी: अमरोहा के चौधरपुर गांव में युवक की गला घोंट कर हत्या, सुबह घर के बाहर मिला शव, पुलिस पूछताछ में जुटीदुमका के कुछ वोटरों से हिन्दुस्तान ने बातचीत कर जानना चाहा कि उनकी वोटिंग का आधार क्या है? 35 साल के सत्येंद्र सिंह का कहना है स्थायी सरकार मुद्दा है, तो 42 साल के जवाहर लाल का कहना है कि शिक्षा के क्षेत्र में विकास है मुद्दा, वहींझारखंड: सुबह 9 बजे तक जामताड़ा-13, नाला-11, बोरियो-20, राजमहल-18, बरहेट-11, पाकुड़-16, लिट़टीपाड़ा-16, महेशपुर-18,दुमका-11, जामा-14, जरमुंडी-12, शिकारीपाड़ा-14, सारठ-14, पोड़ैयाहाट-11, गोड़डा-12, महगामा-10 प्रतिशत मतदान हुआझारखंड: पाकुड़ जिले के लिट्टीपाड़ा विस क्षेत्र में बूथ-134 में बुनियादी सुविधाओं की मांग को लेकर हुआ बहिष्कार, 9 बजे फिर शुरू हुआ मतदानझारखंड : बोरियो के बूथ नं 208 में एक घंटे में 124 वोट पड़ेझारखंड : जामताड़ा में सुबह से महिला मतदाताओं में गज़ब का उत्साहजम्मू कश्मीर में 20 सीटों के लिए मतदान शुरूझारखंड: दुमका के बूथ नम्बर 114 में सुबह से मतदाताओं में उत्साह नजर आ रहा हैझारखंड: सारठ के पालाजोरी ब्लॉक में बूथ नंबर 172 पर इवीएम खराब, 15 मिनट देर से शुरू हुआ मतदानझारखंड: दुमका के 114 नंबर बूथ पर सुबह से लगी महिला वोटरों की लंबी कतारझारखंड: जामताड़ा के बूथ नंबर 203 पर सुबह 7 बजे से ही वोटरों की लंबी कतार लगीझारखंड : दुमका के बूथ नम्बर 207 में पहला वोट पड़ा
बजट संकट दूर करने में करें मदद: ओबामा
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:22-12-12 05:23 PM
Image Loading

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सांसदों से विशेषकर विपक्ष के रिपब्लिकन सांसदों से मौजूदा बजट संकट से पार पाने का आह्वान किया है। यह संकट अगले 10 दिन में दूर किया जाना है।

इस बजट में किए गए प्रावधानों से मध्यम श्रेणी के करदाताओं को कर कटौती का लाभ आगे भी बना रहेगा और आने वाले संकट से बचा जा सकेगा।

ओबामा ने अपने साप्ताहिक संबोधन में कहा हम इस काम को आपस में मिलकर ही कर सकते हैं। हमें इसके लिए कुछ साझा वजह तलाशनी होगी।

अमेरिका के समक्ष खड़े इस बजट संकट के समाधान की दिशा में यदि सहमति नहीं बनती है तो देश में गंभीर आर्थिक संकट हो जाएगा और मध्यम वर्ग के लिए आयकर की दरों में वृद्धि हो जाएगी।

ओबामा ने कहा इस समस्या के बारे में हर कोई किस तरह से सोच समझ रहा है। यहां किस तरह काम हो रहा है इस पर सभी के बीच एक राय नहीं है। लेकिन हमारे पास इसके लिये केवल 10 दिन का समय है।

उन्होंने कहा इसलिये मुझे उम्मीद है कि कांग्रेस का हर सदस्य इस बारे में सोच रहा है। किसी को भी जो वह सोच रहा है पूरा शत-प्रतिशत नहीं मिल सकता है। इसमें पार्टियों के बीच कोई आपसी प्रतिस्पर्धा का भी सवाल नहीं है। हम जो कुछ यहां करेंगे उसका पूरी दुनिया पर असर होगा।

ओबामा ने कहा वह चाहते हैं कि अगले साल देश में अच्छी आर्थिक वृद्धि हासिल हो। मैं चाहता हूं कि अगला साल ऐसा हो जिसमें अधिक नौकरियों के अवसर हों। ज्यादा कामधंधे शुरू हों, कुछ चुनौतियां जो हमारे सामने हैं, उनमें से कुछ हमारे नियंत्रण में नहीं हैं, लेकिन हम एक बेहतर बजट तैयार कर सकते हैं।

ओबामा ने कहा कि पिछले कुछ सप्ताह के दौरान वह दोनों पार्टियों के नेताओं के साथ इस मुद्दे पर काम कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने राजकोषीय घाटे को नियंत्रण में लाने, मध्यम वर्ग को कर वृद्धि से बचाने और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराकर उन्हें आर्थिक वृद्धि में भागीदार बनाने के प्रस्तावों पर विचार विमर्श किया।

यह एक संतुलित प्रस्ताव है जिसमें खर्चों में कटौती के साथ-साथ देश के सबसे धनी नागरिकों को अधिक कर देने के लिए कहा जा रहा है। इसमें ऐसे प्रस्ताव हैं जिनसे मध्यम वर्ग मजबूत होगा और दीर्घकाल में अर्थव्यवस्था भी मजबूत होगी।

ओबामा ने कहा सांसदों के साथ बातचीत के दौरान मैंने रिपब्लिकन सांसदों के साथ कई मुद्दों पर समझौता किया। कर और खर्च के मामले में उनकी बातों को काफी कुछ मान लिया गया। ऐसे में वास्तविक डॉलर के मामले में हमारे बीच अब उतनी दूरी नहीं रही।

उन्होंने कहा कि वह अभी भी व्यापक पैकेज के लिये तैयार हैं। उन्हें अभी भी विश्वास है कि राजकोषीय घाटे को कम करने से अर्थव्यवस्था के दीर्घकालिक स्वास्थ्य और कारोबारियों के विश्वास को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

बजट संकट की समय सीमा के बारे में ओबामा ने कहा कि यह 10 दिन में समाप्त हो रही है और इस समय सीमा में यदि सहमति नहीं बनती है तो मौजूदा कानून के तहत नए वर्ष से अमेरिका के सभी नागरिकों पर अपने आप ही कर की दरें बढ़ जाएंगी। ओबामा जल्द ही परिवार के साथ नए साल की छुटिटयां बिताने हवाई रवाना होने वाले हैं।

 

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड